पाठ्य पुस्तकों के प्रकाशन की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दिया जाये -देवनानी

जयपुर। तबादलों में भ्रष्टाचार और मनमानी रवैये के खिलाफ शिक्षकों का एक समूह ने शिक्षा मंत्री के खिलाफ प्रदर्शन किया। अभी शिक्षा विभाग में बड़े पैमाने पर ट्रांसफर हुए हैं। इससे बहुत से शिक्षकों में नाराजगी भी है। गुरुवार सुबह नाराज शिक्षकों का एक समूह देवनानी के सरकारी आवास पर पहुंचा, लेकिन शिक्षा मंत्री देवनानी से मिलने से इनकार कर दिया। शिक्षक भी सरकारी बंगले के बाहर खड़े रहे। जैसे ही मंत्री कार से देवनानी जाने लगे तो उन्होंने शिक्षा मंत्री की गाड़ी को घेर लिया। इसके बाद भी शिक्षा मंत्री ने बात नहीं की।

इससे नाराज होकर शिक्षकों ने ‘मंत्री चोर है, मंत्री चोर है’ के नारे लगाए। इस दौरान उनके साथ सैकंड ग्रेड भर्ती के लिए आवेदन से वंचित रह गए अभ्यर्थी भी शामिल थे। उन्होंने आवेदन की तारीख बढ़ाने की मांग की,लेकिन शिक्षामंत्री ने इनकी भी नहीं सुनी। कुछ दिन पहले भी शिक्षकों ने शिक्षामंत्री के आवास को घेर लिया था। वे शिक्षकों से डरकर बंगले के पिछले दरवाजे से निकलकर जाना पड़ा था। शिक्षक तबादलों में मनमानी करने और भ्रष्टाचार के आरोप लगाने लगे हैं।

कोई जवाब दें