लखनऊ। आज के दौर में शादी के लिए लड़का लड़की एक दूसरे को देखते हैं और पसंद करते हैं। इसके बाद ही शादी की बात पक्की हो पाती है। लेकिन यूपी के मैनपुरी में एक युवक को अपनी शादी के लिए लिखित परीक्षा के दौर से गुजरना पड़ गया। बात यही खत्म हो जाती तो अलग बात थी, इस परीक्षा की शुरुआत भी लड़के ने की और खुद ही परीक्षा में फेल भी हो गया। जिससे उसकी बनती हुई बात बिगड़ गई। दरअसल कुरावली निवासी युवती का रिश्ता फर्रुखाबाद निवासी युवक के साथ तय हुआ। दोनों ही परिवारों ने युवक युवती को देखने के लिए एक मेले का मैदान तय कर लिया। तय समय पर दोनों पक्ष मेले में आ गए। मेले के दौरान लड़के और लड़की ने एक दूसरे को देख और पसंद कर लिया। साथ ही रिश्ते के लिए हां कर दी। तभी माहौल में अचानक कुछ परिवर्तन देखने को मिला। लड़के ने लड़की के शिक्षित होने का प्रमाण जाने के लिए उसकी परीक्षा लेने की बात कही। लड़की ने स्वीकृति दी तो लड़के ने झट से उसके हाथ में कॉपी थमा दी और कुछ शब्दों को लिखने के लिए कहा। लड़के ने जो शब्द बोले वे शब्द लड़की ने लिख दिए। इस पर लड़का संतुष्ठ हो गया। लेकिन इस बार लड़की अपनी जिद पर अड़ गई और कहा कि लड़का भी अपने शिक्षित होने का प्रमाण दें। इस दौरान लड़का हिचकिचाया फिर भी उसने लड़के हाथ में कॉपी थमा दी। लड़की ने परिश्रम, दृष्टिकोण, सांप्रदायिकता सरीखे शब्द लिखने को कहा। जिसे लड़का ठीक से लिख न सका। इस पर लड़की ने मौके पर परीक्षा का रिजल्ट सुनाते हुए उसे फेल घोषित कर दिया और बात को कैंसिल कर दिया। साथ ही कहा मैं आपसे शादी नहीं कर सकती। ऐसे में लड़के को अपनी गलती पर पछतावा भी हुआ। लेकिन लड़की अपनी बात से टस से मस नहीं हुई। उसने शादी से साफ से इंकार कर दिया।

-जनप्रहरी की ताजातरीन खबरों के लिए लाइक करें।

कोई जवाब दें