जयपुर। आम आदमी पार्टी की छात्र इकाई छात्र युवा संघर्ष समिति (सीवाईएसएस) इस वर्ष राजस्थान के सभी प्रमुख विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में छात्र संघ चुनाव में अपने उम्मीदवार खड़े करेगी। शुक्रवार को प्रेस क्लब में आप नेता और सीवाईएसएस प्रभारी डा. कौस्तुभ दाधीच व अन्य ने छात्र संघ चुनाव के लिए सीवाईएसएस की तैयारियों को लेकर जानकारी दी।

इस दौरान आप वरिष्ठ नेता एवं सीवाईएसएस स्टेट कमेठी सदस्य डा. कौस्तुभ दाधीच ने बताया की सीवाईएसएस के उम्मीदवार आम छात्र होंगे। जो स्वच्छ छवि और शैक्षणिक योग्यता रखते होंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में लगभग 70 प्रमुख कॉलेजों में सीवाईएसएस चुनाव लडऩे जा रही है और एक प्रमुख विकल्प के रुप में उभरकर छात्रों के बीच अपनी उपस्थिति दर्ज कराएगी। उन्होंने कहा की आम छात्र से आशय यह है कि सीवाईएसएस ऐसे छात्र नेताओ से जो चुनावो में बड़ी-बड़ी गाडिय़ों और धनबल का प्रभाव दिखाते है, से दूर रहेगी और संस्कारवान छात्र-छात्राओं को छात्र राजनीति के लिए मजबूत प्लेटफॉर्म उपलब्ध करवाएगी।

सीवाईएसएस स्टेट कमेठी सदस्य विश्वामित्र बोहरा और जवाहर शर्मा ने कहा की शैक्षणिक वातावरण निर्माण व वर्तमान शैक्षणिक वातावरण में सुधार सीवाईएसएस का मुख्य चुनावी मुद्दा रहेगा। सीवाईएसएस राजस्थान विश्वविद्यालय संगठक कॉलेजों, सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय, अजमेर विश्वविद्यालय, जयपुर, भरतपुर, सीकर, जोधपुर, बाड़मेर, कोटा, झुंझनूं, गंगानगर, हनुमानगढ़, दौसा सहित सभी संभागों के प्रमुख विश्वविद्यालय में चुनाव लड़ा जाएगा। सीवाईएसएस ने प्रदेश को 5 संभागों में बांट कर छात्रसंघ चुनावी की तैयारियों को प्रारम्भ कर दिया है। जिसमें से भरतपुर, बीकानेर, उदयपुर और जोधपुर संभाग के लगभग सभी जगहों के 60 कॉलेजों के प्रत्याशियों की घोषणा कर वहां प्रचार अभियान का आगाज भी कर दिया।

जयपुर संभाग में भी केवल प्रमुखता से जयपुर शहर को छोड़कर लगभग सभी जगहों पर प्रत्याशियों की घोषणा सीवाईएसएस कर चुकी है। अब केवल राजस्थान यूनिवर्सिटी सहित अन्य कॉलेजों के प्रत्याशियों की घोषणा होना शेष है। जहां प्रत्याशियों की घोषणा भी रविवार या सोमवार तक कर दी जाएगी। सीवाईएसएस राजस्थान में यह पहला चुनाव लडऩे जा रही है। जिसमे प्रदेश के छात्र एक उत्साह और उमंग के साथ संगठन से जुड़कर नए एवं बेहतर विकल्प को उपयोग में लेकर छात्र राजनीति के इतिहास में एक नई छात्र क्रांति का आगाज करेंगे।

कोई जवाब दें