Agitators, protest, SSC

नयी दिल्ली. सीबीआई ने इस साल21 फरवरी को आयोजित कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा में हुई कथित अनियमितताके मामले में एक प्रारंभिक जांच दर्ज की है। अधिकारियों ने आज यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि जांच एजेंसी ने मामले की सीबीआई जांच के लिए केंद्र से मिले अनुरोध की पड़ताल की। अधिकारियों ने बताया कि आरोपों की पड़ताल के बाद मामले की प्रारंभिक जांच शुरू करने का फैसला लिया गया।

सीबीआई जांच शुरू करने के लिए एक प्रारंभिक जांच पहला कदम है, जिसके तहत जांच एजेंसी इस बात का आकलन करती है कि प्राथमिकी दर्ज करने के लिएक्या आरोपों में प्रथम दृष्टया पर्याप्त सामग्री हैं। दरअसल, छात्र27 फरवरी से दिल्ली में सीजीओ कॉम्पलेक्स स्थित एसएससी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं। वे‘ कंबाइंड ग्रेजुएट लेवल’ ( सीजीएल) परीक्षा में कथित पेपर लीक की सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं। कर्मचारी चयन आयोग( एसएससी) ने21 फरवरी को हुई परीक्षा में कथित पेपर लीक की सीबीआई जांच की सिफारिश की थी।

एसएससी के अध्यक्ष अशीम खुराना ने एक बयान में कहा कि कथित पेपर लीक पर प्रदर्शनकारी उम्मीदवारों के एक प्रतिनिधिमंडल ने इस मुद्दे पर उनसे मुलाकात की। छात्रों ने इस साल17 से22 फरवरी के बीच हुई सीजीएल( टियर2) परीक्षा2017 के प्रश्न पत्र के कथित लीक की सीबीआई जांच की मांग की। कार्मिक राज्य मंत्री जितेन्द्र सिंह ने कहा था कि सीजीएल परीक्षा2017 के लिए देश भर से30 लाख से अधिक उम्मीदवारों ने आवेदन किया था। इसके तहत8000 रिक्तियों को भरा जाना है। उन्होंने बताया कि इनमें से करीब डेढ़ लाख छात्रों को टियर1 परीक्षा के बाद चुना गया।

कोई जवाब दें