जयपुर। राजस्थान यूनिवर्सिटी में बीएससी द्बितीय वर्ष के फिजिक्स का पेपर परीक्षा से पूर्व सोशल मीडिया पर 13 अप्रैल को वायरल कर गोपनीयता भंग करने के अपराध में गिरफ्तार किए गए चारों छात्रों की जमानत अर्जियां एसीएमएम-दो जयपुर मेट्रो अनीता ने गंभीर अपराध बताते हुए खारिज कर दी एवं 14 मई तक न्यायिक हिरासत में जेल भ्ोज दिया। इस संबंध में परीक्षा नियंत्रक डॉ. विनोद गुप्ता ने मुकदमा दर्ज कराया था।

प्रकरण में गांधी नगर पुलिस ने 22 अप्रेल को सपोटरा-करौली के मुनीराम मीना व प्रागपुरा के हरमेश मीना, 26 अप्रैल को 1/228 मालवीय नगर के तुषार भाटिया तथा 27 अप्रेल को हिण्डोन सिटी-करौली के रविन्द्र कुमार प्रजापत (22) को गिरफ्तार किया था। चारों मानसरोवर स्थित सेंट विल्फ्रेड कॉलेज के छात्र हैं। चारों की परीक्षाएं पुलिस कस्टडी में चल रही हैं। अब तक की जांच में मुख्य अभियुक्त दीपक जगरिया फरार है। रविन्द्र ने जमानत अर्जी में कहा है उसकी सगी छोटी बहिन की 11 मई को शादी है। पिता बीमार हैं। वह इकलोता भाई है।

कोई जवाब दें