rajasthan gaurav yatra kota, Vasundhara Raje
rajasthan gaurav yatra kota, Vasundhara Raje

जयपुर, 15 सितम्बर। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि कांग्रेस ने परवन परियोजना के नाम पर सिर्फ राजनीति की और लोगों को छला। उन्होंने कहा कि हाड़ौती के एक बड़े भू-भाग को सरसब्ज करने वाली इस महत्वपूर्ण परियोजना के नाम पर कांग्रेस ने सिर्फ पत्थर लगाने का काम किया जबकि हमारी सरकार ने करीब 8 हजार करोड़ रुपये की इस परियोजना पर काम करके दिखाया है।
मुख्यमंत्री शनिवार को अटरू, छीपाबड़ौद और समरानियां में विशाल आमसभाओं को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि परवन परियोजना के जरिए राज्य सरकार ने 3 लाख 85 हजार हैक्टेयर भूमि को सिंचित करने तथा 56 गांवों को पेयजल उपलब्ध कराने की योजना बनाई है। इसी प्रकार ल्हासी नदी सिंचाई परियोजना और कछावन पेयजल परियोजना का लाभ भी इस क्षेत्र को मिला।
कांग्रेस ने बारां की सिर्फ उपेक्षा की

उन्होंने कहा कि कांग्रेस के राज में बारां जिला उपेक्षित रहा। जबकि हमारी सरकार ने बारां की बाढ़ की समस्या हो या अटरू में पेयजल की समस्या, सभी का स्थाई निराकरण किया है। बारां के जिला अस्पताल में सुविधाओं का विस्तार किया है, कोटा से धरनावदा सड़क का नवनिर्माण करवाया गया है।
समरानियां की सभा मंे श्रीमती राजे ने कहा कि किशनगंज विधानसभा क्षेत्र में पिछले साढ़े चार साल में विकास में कोई कमी नहीं रखी गई है। यहां सड़क, बिजली, स्कूल, पेयजल के क्षेत्र में कई काम हुए हैं। उन्होंने कहा कि परवन परियोजना से किशनगंज क्षेत्र के कई गांवों को पानी मिलेगा। उन्होंने कहा कि किशनगंज और मामूनी में 132 केवी के जीएसएस स्थापित कर दिए हैं। उन्होंने कहा कि 40 करोड़ की लागत से इस क्षेत्र में अहमदी बांध परियोजना तैयार हो गई है, जल्द ही किशनगंज क्षेत्र के लोगों को इससे पानी मिलेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शिवपुरी से बारां तक आने वाले नेशनल हाईवे-77 की मरम्मत के लिए मैंने केन्द्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी से आग्रह किया है और इसका काम बारिश का मौसम खत्म होते ही शुरू हो जाएगा। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में 30 मार्च 2019 तक एक भी ढाणी ऐसी नहीं होगी, जहां बिजली का कनेक्शन नहीं पहुंचा हो। उन्होंने कहा कि मां-बाड़ी योजना में 17 स्कूल खोले गए हैं, जिसमें जनजातीय क्षेत्र के बच्चों को पढ़ाई का मौका मिलेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने समरानियां में भव्य नई कृषि मंड़ी बनाई है।
पेट्रोल-डीजल की दर घटाने वाला राजस्थान पहला राज्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजस्थान देश का एक मात्र राज्य है, जिसने पेट्रोल-डीजल की कीमतों में राहत देने के लिए वैट दरों में 4 प्रतिशत की कमी की है। इससे प्रदेश में पेट्रोल-डीजल की दर 2.50 रूपए तक कम हो गई है। उन्होंने कहा कि इस निर्णय का उद्देश्य प्रदेश के किसानों और आमजन को राहत देना है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में पहली बार 30 लाख किसानों के 50 हजार तक के ऋण माफ करने की ऐतिहासिक योजना हमारी सरकार ने लागू की है। हमारी सरकार ने किसानों के लिए बिजली की दरें नहीं बढ़ाई।
मुख्यमंत्री ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में कभी 26वें स्थान पर रहने वाला राजस्थान आज देश में दूसरे स्थान पर है। राज्य में 6 हजार से अधिक विद्यालय एक साथ क्रमोन्नत किये गये हैं जिससे शिक्षा को बढ़ावा मिलेगा। इसके साथ ही राज्य में 7 मेडिकल काॅलेज खोले गये हैं जिससे अब भविष्य में चिकित्सकों की कमी नहीं रहेगी।
महिलाओं को सशक्त किया

उन्होंने कहा कि भामाशाह योजना के तहत महिलाओं को परिवार की मुखिया बनाकर सरकारी योजनाओं का लाभ सीधे ही बैंक खातों में पहुंचाया जा रहा है। राजश्री योजना, स्कूटी, साइकिल, लैपटाॅप वितरण सहित अन्य योजनाओं के माध्यम से महिलाओं को सशक्त किया गया है।

छीपाबड़ौद की सभा में मुख्यमंत्री ने नये विकास कार्याें की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि अंधेरी नदी पर 80 लाख रूपए की लागत से सड़क पुलिया निर्माण और रेणुका नदी पर 90 लाख रूपए की लागत से एनिकट का निर्माण किया जाएगा। साथ ही सहजनपुर क्षेत्र में सिंदौरिया पेयजल परियोजना को परवन परियोजना से जोड़ा जाएगा। उन्होंने कलमादिया में 33 केवी के नए ग्रिड सब स्टेशन और डोलम चैराहे पर पहले से स्वीकृत ग्रिड सब स्टेशन के लिए भूमि आवंटन यथाशीघ्र करने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि गोरधनपुरा से तुंगा तक 1.5 किलोमीटर लंबी सड़क को राष्ट्रीय राजमार्ग में शामिल कर लिया जाएगा।
सभाओं में सांसद श्री दुष्यंत सिंह ने कहा कि झालावाड-बारां जिला हमारा परिवार है और यहां विकास अनवरत जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने परवन सिंचाई परियोजना का केवल पत्थर लगवाया जबकि हमने मौके पर काम शुरू किया है। उन्होंने कल्याणकारी योजनाओं से आमजन को मिल रहे लाभ के लिए मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त करते हुए जनसमूह को आह्वान किया कि वे सरकार को मजबूत करें।
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष मदनलाल सैनी ने किसानों के लिए शुरू की गई कल्याणकारी योजनाओं को ऐतिहासिक बताते हुए कहा कि कृषि के क्षेत्र में नवाचार किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसान कलेवा योजना के साथ-साथ अन्नपूर्णा योजना का लाभ भी किसानों को भी मिल रहा है।
इन सभाओं में श्रम मंत्री डाॅ. जसवंत यादव, सामान्य प्रशासन विभाग मंत्री हेमसिंह भड़ाना, खाद्य मंत्री श्री बाबूलाल वर्मा, शिक्षा राज्य मंत्री श्री वासुदेव देवनानी, संसदीय सचिव श्री भैराराम सियोल, सांसद श्री निहालचंद मेघवाल, विधायक श्री ललित मीणा, श्री प्रतापसिंह सिंघवी, रामपाल मेघवाल, वरिष्ठ नागरिक बोर्ड अध्यक्ष प्रेमनारायण गालव, सहित बडी संख्या में आमजन उपस्थित थे।

कोई जवाब दें