iso certificate

नयी दिल्ली : लोकसभा चुनाव-2019 की तैयारियों को आगे बढ़ाते हुए भाजपा ने ऐसे करीब दो करोड़ युवा मतदाताओं को सोशल मीडिया के माध्यम से पार्टी के साथ जोड़ने के अभियान ‘‘मिलैनियम वोटर कैंपेन’ की शुरूआत की है जिनका जन्म साल 2000 में हुआ और जो अगले लोकसभा चुनाव में मतदान करने के पात्र होंगे । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 31 दिसंबर को अपने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कहा था कि जो लोग वर्ष 2000 में जन्में हैं, वे एक जनवरी 2018 से पात्र मतदाता बनना शुरू हो जायेंगे और पूरा हिन्दुस्तान आपको 21वीं सदी के मतदाता के रूप में स्वागत करने के लिए लालायित है।

भाजपा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने ‘‘भाषा’’ से कहा कि प्रधानमंत्री की इसी सोच को आगे बढ़ाते हुए पार्टी ने ‘‘सह्रस्त्राब्दी मतदाता अभियान’’ की शुरूआत की है । अगले कुछ दिनों में इसकी औपचारिक शुरूआत की जा सकती है । भाजपा ने इसके लिये एक योजना बनाई है जिसमें दो करोड़ ऐसे मतदाताओं को शामिल किया जायेगा जो साल 2000 में पैदा हुए थे और 2019 में होने वाले आम चुनाव में पहली बार वोट डालेंगे । इस पूरी योजना में भाजपा की सोशल मीडिया टीम की मदद ली जाएगी । इस अभियान का नाम ‘मिलैनियम वोटर कैंपेन’ होगा । इस बारे में पूछने पर भाजपा सोशल मीडिया प्रकोष्ठ के प्रभारी अमित मालवीय ने कहा कि प्रधानमंत्री के मन की बात कार्यक्रम में 2000 में जन्म लेने वाले और 2019 के चुनाव में पात्र मतदाताओं के बारे में उल्लेख किये जाने के बाद से ही भाजपा ने इस पहल को आगे बढ़ाना शुरू का दिया था । एक जनवरी को विभिन्न प्रदेशों में इस बारे में कार्यक्रम शुरू भी हुए और सोशल मीडिया के माध्यम से भी सम्पर्क अभियान चलाया गया ।

उन्होंने कहा, ‘‘हम इस कार्यक्रम की शुरूआत कर चुके हैं । हम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में सरकार के कार्यो एवं नीतियों को सामने रखते हुए युवाओं को जोड़ने की पहल कर रहे हैं । इसे सतत प्रक्रिया के रूप में आगे बढ़ाया जा रहा है ।’’ उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाल ही में भाजपा संसदीय दल की बैठक में भी पार्टी सांसदों से अपने अपने क्षेत्र में युवाओं को पार्टी से जोड़ने पर ध्यान देने को कहा था। मोदी ने ‘मन की बात’ कार्यक्रम में कहा था कि जो लोग वर्ष 2000 या उसके बाद जन्मे हैं यानी 21वीं सदी में जिन्होंने जन्म लिया है वे एक जनवरी 2018 से पात्र मतदाता बनना शुरू हो जाएँगे। भारतीय लोकतंत्र 21वीं सदी के मतदाताओं का, ‘न्यू इंडिया के मतदाताओं ’ का स्वागत करता है। मैं अपने इन युवाओं को बधाई देता हूँ और सभी से आग्रह करता हूँ कि आप स्वयं को मतदाता के रूप में पंजीकृत करें।

प्रधानमंत्री ने कहा था, ‘‘पूरा हिन्दुस्तान आपको 21वीं सदी के मतदाता के रूप में स्वागत करने के लिए लालायित है। 21वीं सदी के मतदाता के नाते आप भी गौरव अनुभव करते होंगे। आपका वोट ‘न्यू इंडिया’ का आधार बनेगा। वोट की शक्ति, लोकतंत्र में सबसे बड़ी शक्ति है। लाखों लोगों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने के लिए ‘वोट’ सबसे प्रभावी साधन है।’’

कोई जवाब दें