जयपुर। गैंगस्टर आनंदपाल सिंह के 24 जून को हुए एनकाउंटर के बाद सीबीआई जांच कराने व श्रद्धांजलि सभा को लेकर प्रदेश भर से राजपूत समाज के लोग बुधवार को सांवराद में पहुंचें। इस दौरान राजपूत समाज के नेताओं ने चेतावनी दी कि यदि सरकार ने शाम 7 बजे तक उनकी मांगों को स्वीकार नहीं किया तो वे आनंदपाल के शव के साथ जयपूर कूच करेंगे।

यही वजह रही कि राजपूत समाज की चेतावनी को देखकर सरकार के प्रतिनिधियों ने राजपूत नेताओं से डीडवाना व नागौर में बातचीत करना शुरू कर दिया। सरकार के साथ बातचीत करने के लिए आनंदपाल की छोटी पुत्री योगिता सिंह भी पहुंची। इस दौरान डीजी (जेल) अजीत सिंह व आईजी रेंज अजमेर मालिनी अग्रवाल भी मौजूद रही।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सरकार सीबीआई जांच को लेकर मानस बनाती नजर आई तो परिवार से आनंदपाल के शव के अंतिम संस्कार की तारीख को लेकर लिखित में देने की बात कही गई। सरकार के प्रतिनिधियों, आनंदपाल के परिजनों व राजपूत नेताओं के बीच बातचीत जारी थी।

कोई जवाब दें