kaangres ne seebeeaee ke daayarektar aalok varma ko chhuttee par bhejane ke maamale mein supreem kort mein yaachika daakhil kar dee hai. raaphel deel maamale mein aalok varma ko chhuttee par bheje jaane kee atakalen hai

नयी दिल्ली : उच्चतम न्यायालय में एक याचिका दायर कर अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के क्रीमी लेयर को आरक्षण के लाभ से बाहर करने की मांग की गई है प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर तथा न्यायमूर्ति डी वाई चंद्रचूड़ के समक्ष यह मामला रखा गया जिन्होंने याचिकाकर्ता एनजीओ समता आंदोलन समिति से कहा कि याचिका की एक प्रति केंद्रीय एजेंसी को एक हफ्ते के अंदर भेजें।

पीठ ने कहा, ‘‘इस याचिका की एक प्रति केंद्रीय एजेंसी को एक हफ्ते के अंदर भेजें। मामले को दो हफ्ते बाद सूचीबद्ध किया जाए।’’ याचिका में कहा गया है कि एससी और एसटी के लिए आरक्षण और अन्य सरकारी योजनाओं के लाभ वास्तविक लाभार्थियों तक नहीं पहुंच रहे हैं क्योंकि इन समुदायों में क्रीमी लेयर हैं जो आरक्षण के लाभ उठा ले जाते हैं।

कोई जवाब दें