Chief Minister refuses to guarantee the implementation of the budget, ends the budget: Khatriyavas

जयपुर. प्राईवेट स्कूलों में बिना अनुमति बढ़ाई गई मनमानी फीस का विरोध शुरु हो गया है। जयपुर शहर कांग्रेस ने सोमवार सुबह शिक्षा संकुल में शिक्षा मंत्री वासुदेव देवनानी के कक्ष के बाहर घेराव किया और सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। शहर कांग्रेस अध्यक्ष प्रताप सिंह खाचरियावास के नेतृत्व में कांग्रेसजनों और बड़ी संख्या में अभिभावक प्रदर्शन में शामिल हुए। बहुत ज्यादा फीस बढ़ाये जाने के विरोध में सैकड़ों अभिभावक आज सुबह प्रतापसिंह खाचरियावास से मिले तथा स्कूलों द्वारा बहुत ज्यादा फीस वृद्धि किये जाने से होने वाली परेशानी से अवगत कराया।

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं जयपुर शहर जिलाध्यक्ष प्रताप सिंह खाचरियावास ने बयान जारी कर कहा कि राज्य सरकार की लापरवाही और अक्रमणियता के कारण राजस्थान के करोड़ों बच्चें और अभिभावक परेशान है। प्राईवेट स्कूलों ने फीस नियन्त्रण कानून की धज्जियाँ उड़ाते हुए 40 प्रतिशत से ज्यादा फीस बढ़ोतरी कर दी है जबकि 2013 और 2016 के स्कूल फीस नियंत्रण कानून के तहत राजस्थान का कोई भी प्राईवेट स्कूल अभिभावकों की सहमति के बगैर फीस बढ़ोतरी नहीं कर सकता है।

राज्य सरकार की चुप्पी इस बात को साबित करती है कि सरकार का कोई भी मंत्री, मुख्यमंत्री तथा भाजपा नेता स्कूल में पढने वाले बच्चों और उनके माता-पिता की परेशानियों को नहीं समझ रहें हैं। मंदी के इस दौर में महगांई बहुत बढ़ जाने से आम आदमी बहुत परेशान है और अब प्राईवेट स्कूलों ने मनमानी फीस वृद्धि लागू कर दी है। राज्य सरकार की चुप्पी से यह स्पष्ट हो गया है कि स्कूलों के फीस वृद्धि के षड़यत्रं में राज्य सरकार भी शामिल है। इसलिए राज्य सरकार के षड़यंत्र और गैर कानूनी फीस वृद्धि के विरोध में कांग्रेस आंदोलन करेगी।

कोई जवाब दें