Millions of Rajputs will be present in Delhi on 19th banishment of Padavati film

जयपुर । फिल्म पद्मावती को लेकर देशभर में हो रहे विरोध को देखते हुए अब सर्व समाज भी एकजूट होने लगा है। लेकिन सरकार की ओर से कोई सकारात्मक प्रतिक्रिया या आवश्यक कदम नहीं उठाए जाने से सर्व समाज में रोष है। इसी संदर्भ में 19 नवम्बर को दिल्ली स्थित टालकटोरा इंडोर स्टेडियम परिसर में आखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के आह्वान पर इस विषय पर विरोध जताया जाएगा। इस आयोजन में राजस्थान के हजारों लोग हिस्सा लेंगे । इनमें सर्व समाज के लोगो के अलावा क्षत्रिय समाज के शामिल होगें। जयपुर में पिंक सिटी प्रेस क्लब में आयोजित पत्रकार वार्ता में बुनकरसंघ के पूर्व अध्यक्ष व राज्य के क्षत्रिय समाज के संगठनो व सर्व यमाज को एक मंच पर बिठाने के प्रयासरत राधेश्याम सिंह तंवर ने सरकार की मंशा पर सवाल उठाते हुए कहा कि अब तक देशभर में सैकड़ो विरोध प्रदर्शन फिल्म पद्मावती को लेकर जारी है, लेकिन ना ही राज्य सरकार और ना ही केंद्र सरकार की ओर से सर्व समाज की मूल भावनाओं को देखते हुए कोई कठोर कदम उठाया गया । राधेश्याम सिंह तंवर ने कहा कि इसे लेकर राजस्थान के सर्व समाज में रोष है, और 19 तारीख को दिल्ली के तालकटोरा इंडोर स्टेडियम में होने वाले अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के कार्यक्रम में इसका जोर-शोर से विरोध किया जाएगा ।

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के राजस्थान के संयोजक महेंद्र सिंह राठौड़ करणी कृपा ने कहा कि यह फिल्मके जरिए ना केवल इतिहास के साथ छेड़छाड़ है बल्कि देश के युवाओं और समाज के लिए प्रेरणा का स्रोत रही रानी पद्मावती के चरित्र पर लांछन लगाने का प्रयास किया जा रहा है। , इसे देश की जनता बर्दाश्त नहीं करेगी।आगामी 19 नवंबर को राजस्थान के प्रत्येक जिले से सर्व समाज के लोग इस फिल्म के विरोध जताने के लिए हजारों की संख्या में दिल्ली कूच करेंगे। प्रेस कॉन्फ्रेंस में शामिल राजपूत सभा भवन की ओर से प्रतिनिधि विक्रम सिंह ने कहा कि जब तक फिल्म का प्रदर्शन नहीं रोका जाएगा सर्व समाज का आंदोलन जारी रहेगा । श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना ने इस फिल्म के प्रदर्शन पर तुरंत रोक लगाए जाने की मांग की। इसी संदर्भ में श्री राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष अजीत सिंह मामडोली ने कहा कि सर्व समाज की मूल भावनाओं के साथ खिलवाड़ की जाने वालों को के खिलाफ सख्त सख्त कार्रवाई की जाए। भवानी निकेतन शिक्षा समिति के कोषाध्यक्ष जालिम सिंह उडील ने कहा कि अब तक फिल्म का ट्रेलर और दो गाने सामने आए हैं । इसमें जिस तरह से पद्मावती के चरित्र को लेकर जो फिल्मांकन किया है वह बेहद और अपमानजनक है । राजपूत सभा के सहमंत्री विक्रम सिंह ने की इतिहास के साथ छेड़छाड़ करने का प्रयास पैसा कमाने के लिए किया जा रहा है जो कि बर्दाश्त नहीं होगा। गुलाम निजामुद्दीन एडवोकेट पूर्व सदस्य स्टेट हज कमेटी समेत प्रेस कॉन्फ्रेंस में इन सबके अलावा बजरंग दल की ओर से विक्रम सिंह, हिंदू क्रांति सेना ,अंतर्राष्ट्रीय ब्राह्मण महासभा, अग्रवाल महासभा, खंडेलवाल वैश्य समाज ,अंतराष्ट्रीय वैश्य महासभा के प्रतिनिधियो शामिल हुए। गौरतलब है कि इससे पहले भी राजस्थान में संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती की शूटिंग रोक दी गई थी।राजपूत समाज और अंन्य संगठनों की ओर से किस फिल्म की शूटिंग रुकवाई गई थी। लेकिन इसके बाद भी फिल्म की शूटिंग अन्य प्रदेशों में की गई और विवादित तथ्यों को नहीं हटाया गया।

कोई जवाब दें