जयपुर। नवगठित राजनीतिक पार्टी स्वराज इंडिया ने आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार के दो साल पूरे होने पर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से दिल्ली के लोगों की सेवा करने में कोई रूचि नहीं होने का गंभीर आरोप लगाया। पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनुपम ने कहा कि अरविन्द केजरीवाल को दिल्ली की समस्याओं से कोई सरोकार नहीं रहा। दिल्ली के लोगों की पीड़ा और परेशानी से कोई वास्ता नहीं रहा। केजरीवाल के लिए दिल्ली अब सिर्फ़ सीढ़ी रह गयी है बाकि राज्यों में सत्ता हथियाने का, अपनी राजनीति चमकाने का।  दिल्ली आज कूड़े के ढेर पर है। हर साल डेंगू चिकुनगुनिया जैसी माहमारी से हाहाकार मचता है। प्रदूषण के प्रकोप से दिल्ली कराह रही है। आज “साफ़ दिल्ली” के एजेंडे को आम आदमी पार्टी समेत दिल्ली की तीनों सरकारों ने त्याग दिया है। आम आदमी पार्टी ने अपने कारगुज़ारियों से फ़रवरी 2015 में मिले अपार जनादेश का अपमान किया है। जो वादे किए उन्हें पूरा करना तो दूर, दिल्ली के उस आम आदमी को ही त्याग दिया जिसने उन्हें सत्ता में पहुँचाया। स्वच्छता, महिला सुरक्षा, नशामुक्ति, वाईफ़ाई, स्कूल कॉलेज, शिक्षकों की भर्ती, झुग्गी झोपड़ी, अनाधिकृत कॉलोनी, दिल्ली देहात से लेकर लोकपाल और स्वराज बिल जैसे वादों तक केजरीवाल सरकार ने दिल्ली के साथ छलावा किया है। अफ़सोस की बात है कि इतने बड़े आंदोलन के बाद दिल्ली आज भी असुरक्षित है। आम आदमी पार्टी ने महिला सुरक्षा दल और 47 फ़ास्ट ट्रेक कोर्ट्स का वादा किया लेकिन किया कुछ नहीं। सीसीटीवी कैमरे, डार्क स्पॉट्स मिटाना और लास्ट माईल कनेक्टिविटी सब जुमले निकले। डिया ने रविवार को ऐतिहासिक रामलीला मैदान में एक विशाल रैली का आयोजन कर दिल्ली की दशा दिशा का आईना सबके सामने रखा। स्वराज इंडिया पार्टी ने हुँकार भरते हुए चुनावी अभियान का आगाज़ किया। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगेंद्र यादव ने रामलीला मैदान की जवाब दो हिसाब दो  रैली में साफ़ दिल, साफ़ दिल्ली का नारा दिया।

कोई जवाब दें