BJP CM, Amit Shah, National President BJP, BJP News, BJP News, CM Vasundhara Raje

जयपुर। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पद की दस दिन से खाली पडी कुर्सी पर आज नया कप्तान विराजमान हो सकता है। नए अध्यक्ष पद पर सहमति के लिए गुरुवार दोपहर एक बजे मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे दिल्ली में भाजपा मुख्यालय में पहुंची, जहां वह बीजेपी प्रेसीडेंट अमित शाह, संगठन महामंत्री रामलाल और दूसरे केन्द्रीय नेताओं से मिली। मुलाकात में प्रदेश अध्यक्ष के नाम पर गंभीर मंथन हुआ और एक नाम तय करने को लेकर एकराय बनाने की कोशिश की गई। आशा है कि इस मुलाकात के बाद भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का नाम आज घोषित हो जाएगा। वसुंधरा राजे गुट के समर्थक नेता व मंत्री भी दिल्ली में ही डेरा डाले हुए है। वे प्रयास कर रहे हैं कि उनके गुट का समर्थक ही प्रदेश अध्यक्ष बने। अगर नहीं भी बन पाए तो प्रदेश चुनाव संचालन समिति का अध्यक्ष पद उनकी पसंद के अनुसार हो। जिससे तालमेल बना रहे। हालांकि लग रहा है कि प्रदेश अध्यक्ष के नाम को लेकर चल रहा सस्पेंस आज खत्म हो जाएगा।

 

ऐसा माना जा रहा है कि नए अध्यक्ष के साथ ही सीएम वसुंधरा रेज जयपुर लौटेंगी। पार्टी में चर्चा है कि नए अध्यक्ष गजेन्द्र सिंह शेखावत के होने की पूरी संभावना है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष पद को खाली हुए आज दस दिन हो गए है, हालांकि अब पार्टी में कुछ लोग यह भी कह रहे हैं कि अशोक परनामी ही अभी अध्यक्ष है और उनका इस्तीफा मंजूर नहीं किया गया है। हालांकि परनामी इन दिनों अध्यक्ष पद के दायित्व वाले काम करते दिख नहीं रहे है। बहरहाल अध्यक्ष पद को लेकर चल रहा केन्द्र और प्रदेश नेतृत्व के बीच चल रहा गतिरोध आज खत्म होने की पूरी सम्भावना बताई जा रही है। वैसे पिछले दो दिन में गजेन्द्र सिंह शेखावत को अध्यक्ष नहीं बनाने की तमाम लॉबिंग के बावजूद सहमति इसी नाम पर बनने की बात कही जा रही है। सूत्रों का कहना है कि इस मामले में तेजी पिछले दो दिन में आई है। मंगलवार को दिल्ली में इस मसले को लेकर पार्टी प्रभारी अविनाश राय खन्ना और संगठन महामंत्री रामलाल के बीच बातचीत हुई। वहां से कई बार मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को भी फोन किए गए। शेखावत के मामले में दी जा रही जातिगत समीकरणों को केन्द्रीय नेतृत्व ने पूरी तरह खारिज कर दिया।

बुधवार को भी दिन भर सहमति बनाने के प्रयास चलते रहे और अब बताया जा रहा है कि आज मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की पार्टी नेतृत्व के साथ सम्भावित चर्चा में इस गतिरोध को खत्म कर लिया जाएगा। पार्टी सूत्रों के अनुसार अध्यक्ष की नियुक्ति के साथ ही यहां की चुनाव अभियान समिति के संयोजक की नियुक्ति भी हो सकती है। ऐसा मध्य प्रदेश में किया जा चुका है। पार्टी अब ज्यादा समय खराब करने के मूड में नहीं है। यही कारण है कि नए अध्यक्ष के साथ चुनाव अभियान समिति के सयोंजक की नियुक्ति भी की जा सकती है। इस पद पर राज्यसभा सांसद भूपेन्द्र यादव के आने की सम्भावना बताई जा रही है। पिछले चुनाव में यादव ने मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की परिवर्तन यात्रा की कमान सम्भाली थी और दोनों के बीच लम्बे समय तक अच्छी अडरस्टैंडिंग रही है। ऐसे में माना जा रहा है कि राष्ट्रीय नेतृत्व आज यह नियुक्तियां कर मई से यहां चुनाव अभियान को पूरे जोर-शोर के साथ शुरू कर सकता है।

कोई जवाब दें