जयपुर। राजस्थान के सबसे बड़े गैंगस्टर आनंदपाल सिंह के एनकाउंटर के बाद सीबीआई जांच की मांग के मामले में बुधवार को लाखों की संख्या में राजपूत समाज के लोग सांवराद में जुटे। इस दौरान सभी ने एक स्वर में आनंदपाल के परिजनों की ओर से मामले की जांच सीबीआई से कराने सहित अन्य मांगों को लेकर सरकार के खिलाफ अपना विरोध जताया।

पुलिस महानिदेशक (जेल) अजीत सिंह ने राजपूत नेताओं से सहयोग मांगा। लेकिन राजपूत नेताओं ने साफ शब्दों में कह दिया कि इस मामले में सीबीआई जांच से कम कुछ भी मंजूर नहीं है। राजपूत नेता व करणी सेना प्रमुख लोकेन्द्र सिंह कालवी तथा डीजी अजीत सिंह के बीच बातचीत हुई। इस दौरान कालवी के तेवर तीखे ही नजर आए। कालवी ने कहा कि इस मामले में सीबीआई से जांच कम कुछ भी मंजूर नहीं है। बता दें आनंदपाल सिंह के एनकाउंटर को आज 19वां दिन है। आज भी आनंदपाल सिंह के शव के अंतिम संस्कार को लेकर सुलह की किरण नजर नहीं आई। हालांकि राजपूत समाज ने सांवराद में हुंकार रैली व श्रद्धांजलि सभा में पहुंचकर सरकार को अपनी ताकत का अहसास जरुर करा दिया।

-बातचीत के लिए डीडवाना रवाना
इधर सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राजपूत समाज के विरोध प्रदर्शन के बीच सरकार के प्रतिनिधि राजपूत समाज के नेताओं से मिलकर कोई रास्ता निकालने के लिए प्रयासरत नजर आए। यही वजह रही कि राजपूत समाज के कुछ चुनिंदा नेता सरकार से वार्ता करने के लिए डीडवाना रवाना हो गए।

कोई जवाब दें