जयपुर। 24 जून को राजस्थान के चूरू स्थित मालासर में एनकाउंटर के दौरान मारे गए गैंगस्टर आनंदपाल सिंह की दादी मीडिया के सामने आई। इस दौरान वे मीडिया को अपनी व्यथा बताते हुए बेहद गमगीन ही जान पड़ रही हैं। आनंदपाल की दादी 101 वर्षीय सोहन कंवर अपने पोते आनंदपाल को याद कर बेहद दु:खी हैं।

सोहन कंवर ने कहा कि उसे तो बस न्याय चाहिए। गोदी में खिलाया था। वो तो बहुत ही समझदार था। आंनदपाल के बिना मैं बहुत दु:खी हुई। इधर आनंदपाल की दादी सोहन कंवर की वृद्धावस्था के बीच परिवार को उनकी सार-संभाल में ही जुटना पड़ रहा है। वृद्धावस्था होने के कारण हर समय उसके पास 5 से 6 महिलाएं मौजूद ही रहती हैं। वृद्धावस्था के साथ ही पोते के गम में अब वह दिनों दिन बेहद कमजोर ही होती जा रही है। 11 दिन से आनंदपाल का शव घर के आंगन में पड़ा है। उसका अंतिम संस्कार नहीं हो पाया है तो परिवार के लोगों ने अन्न भी ग्रहण नहीं किया। उधर एनकाउंटर के 11वें दिन भी आनंदपाल के शव के अंतिम संस्कार को लेकर कोई पहल नहीं हो पाई। आनंदपाल के परिजनों से बातचीत को लेकर प्रशासन हर संभव कोशिश में जुटा है। ताकि उसके शव का अंतिम संस्कार किया जा सके।

कोई जवाब दें