Shiv Sena

देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा चुनावों को लेकर बुधवार को मतदान सुबह यद्दपि धीमी गति से शुरू हुआ। लेकिन सूरज चढऩे के साथ ही मतदान ने जोर पकड़ लिया। शुरुआती 3 घंटों में यहां 14 फीसदी वोट पड़े। प्रदेश की 70 में से 69 सीटों के लिए हो रहे मतदान के दौरान मतदाताओं में उत्साह देखने को मिला। एक सीट पर मतदान प्रत्याशी के निधन होने से टाल दिया गया। वैसे आज ही के दिन यूपी में भी दूसरे चरण के तहत 67 सीटों के लिए मतदान जारी है। उत्तराखंड में 69 सीटों के लिए 10 हजार 854 पोलिंग बूथ बनाए गए। जहां 75 लाख 12 हजार 559 मतदाता उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे। राज्य की इन सीटों पर कुल 637 प्रत्याशी अपना भाग्य आजमा रहे हैं। इसमें महिलाएं भी पीछे नहीं है। यहां 62 महिलाएं प्रत्याशी के तौर पर चुनाव मैदान में है। उत्तराखंड राज्य का गठन होने के बाद से अब तक प्रदेश में छह मुख्यमंत्रियों का कार्यकाल रहा है। यहां शुरुआती पहले घंटे में मात्र 6 फीसद मतदान हुआ। फिर 3 घंटों में यह आंकड़ा 14 फीसद तक पहुंच गया। उत्तराखंड के सीएम हरीश रावत ने भी मतदान केन्द्र पर पहुंच कर मतदान किया तो योग गुरू बाबा रामदेव ने भी मतदान किया। योग गुरू ने कहा कि अच्छी नीति व नियत वाले को ही वोट देना चाहिए। नोटा का कोई लाभ नहीं होता है। इस बार चुनाव परिणाम भारी उथल-पुथल वाले होंगे। इन चुनावों में जहां कांग्रेस अपनी सरकार बचाने के लिए बैचेन है तो भाजपा सत्ता वापसी के लिए मशक्कत कर रही है।

कोई जवाब दें