The patient has the right to choose a hospital for better treatment.
जयपुर। पालनाघर में छोड़े गए दो नवजात बच्चों की मौत का मामला सामने आया है। दोनों बच्चों का इलाज चल रहा था। इन दोनों बच्चों को कोई पालनाघर में छोड़ गया था। बच्चों की तबीयत ठीक नहीं होने इनका जे.के. लॉन अस्पताल में इलाज चल रहा था। बच्चों के इलाज के दौरान मौत होने पर एसएमएस प्रशासन ने गांधी नगर थाने में रिपोर्ट दी है।
बाल सुधार गृह के पालना गृह में अज्ञात व्यक्ति दस दिन के नवजात शनि और तीन महीने के शुभम को छोड़कर गया था। नवजात शनि और शुभम की सोमवार को अचानक तबीयत बिगड़ गई। इस पर उन्हें जे.के.लॉन अस्पताल में भर्ती कराया गया। तीन महीने के शुभम की गंभीर हालत के कारण उसे सवाई मानसिंह अस्पताल रैफर कर दिया गया। दोनों ही बच्चों की मंगलवार को इलाज के दौरान मौत हो गई। प्रथम दृष्टया दोनों बच्चों की मौत बीमार होने के कारण होना सामने आया है।

कोई जवाब दें