jhaarakhand

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झारखंड में रैली के दौरान भी उसी अंदाज में दिखे जैसा, वे हर रैली में दिखते हैं. रैली में प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि कांग्रेस चुनाव जीतने के खेल में किसानों को कर्जदार, युवाओं को याचक और माताओं-बहनों को असुरक्षित बनाकर रखती है। उन्होंने कोयल नदी पर स्थित इस बांध परियोजना का जिक्र कर कहा कि जो लोग किसानों को कर्जमाफी के नाम पर किसानों को बहला रहे हैं, उन्होंने किसानों का भला करनेवाली इस परियोजना का नाम तक नहीं सुना होगा। उन्हें यह तक नहीं पता होगा कि ये कोयल पंछी का नाम है, बांध का नाम है या फिर नदी का नाम। बता दें कि यहां पीएम मोदी पलामू मंडल बांध परियोजना की आधारशिला रखने पहुंचे थे। यह बांध से उत्तर कोयल नदी पर स्थित यह बांध झारखंड में 20,000 हेक्टेयर और बिहार में 90,000 हेक्टेयर कृषि भूमि की सिंचाई के लिए पानी की आपूर्ति करेगा।

पीएम ने कहा कि इससे 3 लाख लोगों को पीने का साफ पानी उपलब्ध होगा। यह पहले की सरकारों की बेईमानी का सबूत है कि जो योजना सिर्फ 30 करोड़ में पूरी होनी थी, वह अब 2 हजार 400 करोड़ रुपये में पूरी होगी। मोदी ने किसानों का जिक्र कर कहा कि कांग्रेस ने उन्हें वोटबैंक माना, लेकिन हमारी सरकार उन्हें अन्नदाता की तरह देखती है। पीएम ने कहा,कांग्रेस के लिए किसान सिर्फ और सिर्फ वोट बैंक है लेकिन हमारे लिए किसान हमारा अन्नदाता है. कांग्रेस और भाजपा में यही अंतर है।

पीएम मोदी ने कहा कि उनकी सरकार ने किसानों को वोट बैंक का हिस्सा नहीं बनाया। मोदी ने कहा,अगर किसानों को वोट बैंक का हिस्सा बनाकर रखना होता तो मेरे लिए काफी आसान था। 1 लाख करोड़ की विभिन्न योजनाओं की जगह इतने की कर्जमाफी करके किसानों में बांट देता, लेकिन इससे सिर्फ इस पीढ़ी का भला होता। लेकिन योजनाओं की वजह से 5-5 पीढियों का फायदा होगा।

कोई जवाब दें