Twitter

नई दिल्ली। अब भारत का मुषक देगा ट्विटर को टक्कर जी हां भारत में जल्द लॉच होने जा रहा है जिसकी शुरुआत हो चुकी है मगर आॅपचारिक लॉचिंग बाकी है। मुषक के संस्थापक का कहना है कि यह भारतीयों के लिए भारत का ट्विटर है जिससे लोग अपनी अभिव्यक्ति व्यक्त कर सकेंगे जिसकी अक्षर सीमा भी ट्विटर से ज्यादा होगी। अंतरराष्ट्रीय सोशल मीडिया नेटवर्किग साइट ट्विटर के भारतीय विकल्प के तौर पर हिन्दी और अन्य भारतीय भाषाओं में काम करने वाली सोशल मीडिया नेटवर्किग साइट मूषक पेश की गयी है। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान कल इसका औपचारिक तौर पर लोकर्पण करेंगे। मूषक के संस्थापक अनुराग गौड़ ने आज यहां संवाददाताओं को बताया, मूषक स्वभाषा में तैयार किया गया देश का पहला स्वदेशी सोशल नेटवर्क है।

मूषक एंड्राइड एप और वेब साइट दोनों ही रूपों में इंटरनेट पर मौजूद है। यह सम्पूर्ण रूप से भारतीय और भारतीय युवाओं द्वारा तैयार किया गया यह पहला स्वदेशी नेटवर्क है. उन्होंने बताया कि फिलहाल मूषक हिन्दी के अलावा मराठी और गुजराती में उपलब्ध है और क्रमश: भारत की सभी भाषाओं में लाया जायेगा। अंग्रेजी में यह उपलब्ध नहीं है। गौड़ ने कहा कि देश में अभी 2.5 लाख लोग मूषक का उपयोग कर रहे हैं तथा रोज हजारों लोग इससे जुड़ रहे हैं। इनमें प्रसिद्ध योगगुरू बाबा रामदेव, आचार्य बालकृष्ण, गायक अभिजीत भट्टाचार्य, वरिष्ठ पत्रकार प्रताप सोमवंशी इसका नियमित तौर पर उपयोग कर रहे हैं। उन्होंने ट्विटर की तुलना में मूषक को अधिक सक्षम होने के दावा करते हुए कहा कि मूषक में अक्षर सीमा 500 है, जो संक्षिप्त में अपनी बात रखने के लिये पर्याप्त है। इसके साथ ही इसमें आप छाया चित्र, चलचित्र, ध्वनि फाइल तो डाल ही सकते हैं। साथ ही डूडल बनाने, छायाचित्र के ऊपर लिखने और मेम बनाने की सुविधा भी इसमें है।

कोई जवाब दें