GALLOPS OF INDIA
GALLOPS OF INDIA

जयपुर। 14 टीमों के 70 से अधिक हॉर्स राइडर्स की भागीदारी के साथ सोमवार को कॉसल मंडावा से ‘गैलॉप्स ऑफ इंडिया‘ की शुरूआत हुई। ये राइडर्स संयुक्त राज्य अमेरिका, आयरलैंड, स्लोवाकिया, स्पेन सहित 16 देशों से हैं। मेजर जनरल नरपत सिंह राजपुरोहित द्वारा इस राइड को ‘फ्लैग ऑफ‘ किया गया। इस अवसर पर मंडावा के पुजारी द्वारा सभी प्रतिभागियों के लिए पूजन एवं पारम्परिक टीका किया गया।

‘फ्लैग ऑफ‘ के पश्चात सबसे पहले जयपुर की 61वीं कैवलरी टीम द्वारा रवाना हुई, इनके द्वारा भारत का प्रतिनिधित्व किया जा रहा है। रेस के दौरान सभी राइडर्स मिडपॉइंट पर आयोजित लंच में 30 मिनट के लिए अपने-अपने घोडों से भी उतरे। उल्लेखनीय है कि कल रात मंडावा कॉसल द्वारा अलसीसर महल में प्रतिभागियों के लिये डिनर आयोजित किया गया था, जहां सभी ने स्थानीय कालबेलिया नर्तक एवं लंगा गायक की सांस्कृतिक प्रस्तुतियों का लुत्फ भी उठाया।

इवेंट के दौरान रात्रि में ठहरने के लिये सभी राइडर्स के लिए मंडावा सफारीज द्वारा अनेक शिविर लगाए गए हैं। इस कम्पेटिटिव एंड्यूरेंस राइड के रूट के दौरान रेतीले टीलों एवं खेतों के जरिए प्रतिभागियों को शेखावाटी के लेंडस्केप से जुड़ने का अवसर प्रदान किया जा रहा है। राइड के दौरान उन्हें एक निश्चित गति बनाये रखनी होगी, जो उन्हें इस इवेंट में सफल होने के लिए आवश्यक होगी। इस इवेंट में शामिल होने वाले सर्वाधिक उम्र के राइडर 93 वर्षीय फिलिप पेरियर हैं, जो खूबसूरत परिदृश्यों के साथ-साथ शानदार राइड का आनंद भी ले रहे हैं।

उल्लेखनीय है कि सभी राइडर 6 दिन की सवारी के दौरान अलसीसर, महेनसर, बीका की ढ़ाणी और फतेहपुर को कवर करेंगे। 8 मार्च को कॉसल मंडावा में पुरस्कार वितरण समारोह के साथ इसका समापन होगा। 9 मार्च को मुंडोता में एक पोलो मैच का आयोजन भी किया जाएगा।

कोई जवाब दें