Bribe-trap-case

जयपुर । जिले के शाहपुरा इलाके में 25 बीघा कृषि भूमि का रुपान्तरण करने एवं पैमाइश कर पत्थरगढ़ी करने की एवज में 3.50 लाख रुपए की रिश्वत लेते 3 अप्रेल, 2016 को रंगे हाथ गिरफ्तार किए गए तत्कालीन एसडीएम भारत भूषण गोयल (41) निवासी भुसावर भरतपुर के मामले में एसीबी की 20 माह में भी जाांच पूरी नहीं होने पर मंगलवार को एसीबी कोर्ट-एक में सुनवाई्र 27 मार्च, 2018 तक टल गई।

इस मामले में दलाल की भूमिका निभाने वाले शंकरलाल गुप्ता खोटी-शाहपुरा ने कोर्ट में 18 अक्टूबर, 2016 को आत्मसमर्पण किया था। एसीबी ने शंकर लाल के खिलाफ अभी तक चालान पेश नहीं किया है। जबकि भारत भूषण गोयल के खिलाफ चालाप भी पेश हो चुका है एवं 11 जनवरी को सरकार से मुकदमा चलाने की स्वीकृति भी मिल चुकी है। प्रकरण के अनुसार ग्राम हनुतपुरा रूडी में एग्रो व आयुर्वेदिक प्रोडक्ट की फैक्ट्री लगाने के लिए उद्योगपति संजय कुमावत से उपरोक्त कार्य के लिए दलाल शंकरलाल ने 70 लाख रुपए की रिश्वत मांगी थी। बाद में सौदा 37 लाख रुपए में हुआ था। सत्यापन में 1.50 लाख रुपए ले लिए। टीएलओ योगेश दाधीच ने भारत भूषण गोयल को साढ़े 3 लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया था। परिवादी ने शाहपुरा पुलिस उप अधीक्षक विजय सिंह मीणा, तहसीलदार नंदकिशोर तिवाड़ी सहित अन्य पर भी गंभीर आरोप लगाए थ्ो।

कोई जवाब दें