नई दिल्ली। एक ओर जहां बाबरी मस्जिद के विवादित ढांचा गिराने को लेकर भाजपा के वरिष्ठ नेता इन दिनों कानूनी शिंकजे में आते जा रहे हैं। वहीं भाजपा के पूर्व सांसद रहे और रामजन्म भूमि न्यास के सदस्य रामविलास वेदांती ने बेबाक बयान देकर उनकी मुश्किलों में इजाफा कर दिया। वेदांती ने दावा करते हुए कहा कि अयोध्या में बाबरी ढांचा तो उनके कहने पर ही तोड़ा गया था। उन्होंने कहा कि भले ही ही उन्हें फांसी मिल जाए, लेकिन मैं जो कह रहा हूं वो ही सही है, मैं बयान से नहीं बदलूंगा। बाबरी मस्जिद का ढांचा तोडऩे को लेकर उन्होंने ही कार सेवकों को आदेश दिए थे। इस दौरान उनके साथ विहिप के दिवंगत नेता अशोक सिंघल व महंत अवैधनाथ भी उनके साथ थे। गौरतलब है कि सुप्रीम कोर्ट ने वरिष्ठ कांग्रेसी नेता लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी व उमा भारती सहित 13 लोगों के खिलाफ आपराधिक साजिश का मुकदमा चलाने के आदेश दिए हैं। अदालत ने दो साल के भीतर ही सुनवाई पूरी करने सहित अन्य बड़े फैसले दिए हैं।

-जनप्रहरी की ताजातरीन खबरों के लिए लाइक करें।

कोई जवाब दें