Successfully testing the glide bomb, will be handed over to the Armed Forces.

नयी दिल्ली। ओडिशा के चांदीपुर में आज पूर्णरूप से देश में विकसित और कम वजन वाले ‘ग्लाइड’ बम का सफलतापूर्वक परीक्षण किया गया है । इस बम – स्मार्ट एंटी एयरफील्ड वीपन ( एसएएडब्ल्यू ) – को कल भारतीय वायु सेना के विमान से गिराया गया । रक्षा मंत्रालय ने एक बयान जारी कर बताया, ‘‘यह निर्देशित बम विमान के जरिए छोडा गया । यह बम सटीक नेविगेशन प्रणाली से निर्देशित हो रहा था । सटीकता के साथ बम 70 किलोमीटर के रेंज से आगे पहुंच गया ।’’ इसमें कहा गया है कि कुल मिला कर अलग अलग स्थितियों में तीन परीक्षण हुए और सभी परीक्षण सफल हुए ।

निर्देशित बम को आरसीआई, डीआरडीओ ने इसके अन्य प्रयोगशालाओं तथा भारतीय वायु सेना के सहयोग से विकसित किया है। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने डीआरडीओ के वैज्ञानिकों तथा वायुसेना को इस सफल परीक्षण के लिए बधाई दी है । रक्षा विभाग के अनुसंधान एवं विकास विभाग के सचिव तथा डीआरडीओ के चेयरमैन एस क्रिस्टोफर ने बम बनाने वाले दल को बधाई देते हुए कहा है कि एसएएडब्ल्यू को जल्दी ही शसस्त्र सेना में शामिल किया जाएगा ।

कोई जवाब दें