– अजमेर हाई-सिक्योरिटी जेल में हुई घटना, आनन्दपाल के एनकाउंटर से गुस्साए रुपेन्द्र पाल ने किया हमला, सूर्यवीर की आंख पर आई चोट
जयपुर। गैंगस्टर आनन्दपाल सिंह के भाई रुपेन्द्र पाल सिंह उर्फ विक्की ने मंगलवार को अजमेर हाई-सिक्योरिटी जेल में एसओजी के सीआई सूर्यवीर सिंह पर हमला कर दिया। हमले में सूर्यवीर सिंह की आंख पर चोट आई है। भाई आनन्दपाल के एनकाउंटर से रुपेन्द्र सिंह गुस्से में दिखा और सूर्यवीर को देखते ही उस पर हमला बोल दिया। जेल प्रशासन इस घटना को लेकर रुपेन्द्र के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएगा। सूर्यवीर सिंह का मेडिकल करवाया है। कोर्ट के आदेश पर प्रोडक्शन वारंट लेकर एसओजी सीआई सूर्यवीर टीम के साथ जेल जेल गए थे।

वे रुपेन्द्र सिंह को लेने गए थे। उससे सीकर के खान व्यवसायी कृपाल सिंह की ओर से तीस लाख रुपए की फिरौती मांगने के मामले में प्रोडक्शन वारंट लेकर पूछताछ करनी है। जैसे ही रुपेन्द्र पाल सिंह को लेकर जेलकर्मी जेल अधीक्षक कमरे में लेकर गए तो वहां सूर्यवीर सिंह को देखकर वह तैश में आ गया और बदजुबानी करते हुए सूर्यवीर पर हमला कर दिया। बताया जाता है कि विक्की ने सूर्यवीर सिंह का गला दबाया और हाथापाई की। बमुश्किल रुपेन्द्र पाल को जेलकर्मियों ने पकड़कर अलग किया और कमरे से बाहर किया। सूर्यवीर के आंख में चोटें आई है। गौरतलब है कि 24 जून को हुए आनन्दपाल के एनकाउंटर मामले की अगुवाई टीम में सूर्यवीर सिंह भी शामिल थे। आनन्दपाल को गोली मारने वाले कमांडो सोहन सिंह के पीछे सूर्यवीर सिंह व अन्य अफसर थे। गोलीबारी के दौरान सूर्यवीर के हाथ में भी चोट आई थी। जानलेवा हमले को लेकर विक्की के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई जाएगी। घटना के बाद आला अफसर जेल पहुंचे। एसओजी के अफसरों ने भी सूर्यवीर से घटना की जानकारी ली।

– मेरे भाई को मारा है, तुझे जान से मार दूंगा
मीडिया रिपोटर्स के मुताबिक, जेल अधीक्षक कक्ष में आते ही रुपेन्द्र पाल सिंह ने एसओजी टीम और सूर्यवीर सिंह पर उसके भाई आनन्दपाल सिंह को मारने का आरोप लगाते हुए अपशब्द कहे। उसने सूर्यवीर सिंह को जान से मारने की धमकी देते हुए कहा कि तूने मेरे भाई आनन्दपाल को मारा है। मैं किसी को छोड़ूंगा नहीं। भाई की हत्या का बदला लूंगा। किसी को छोड़ूंगा नहीं।

कोई जवाब दें