जयपुर। राजस्थान के बांसवाड़ा में शुक्रवार को एक शर्मसार कर देने वाली घटना सामने आई। जहां चाचा ने अपनी ही 4 साल की मासूम दुष्कर्म कर उसे जीवन भर का दर्द दिया है। हालांकि मामला सामने आया तो पुलिस ने दंरिदे चाचा को धरदबोचा। पुलिस ने बताया कि घाटोल-खमेरा थाना क्षेत्र के पडौली गांव में 15 अगस्त की शाम को लोग जन्माष्टमी मना रहे थे। गांव की 4 साल की एक मासूम अन्य बच्चों के साथ गांव में मटकी फोड़ कार्यक्रम देखने गई थी। जबकि उसका पिता बांसवाड़ा में एक मिल में काम पर गया हुआ था। इस दौरान चाचा वीरेंद्र सिंह (22) इस मासूम को प्रसाद खिलाने के बहाने खेत में ले गया। जहां बच्ची के साथ दुष्कर्म किया। बाद में उसने यह बात घर पर किसी अन्य को नहीं बताने के लिए डराया और धमकाया। यही नहीं आरोपी वीरेंद्र ने खेत पर लगे हैण्डपंप पर बच्ची के हाथ-पैर धुलाए और उसे घर छोड़ गया। इस दरम्यान बच्ची लगातार रोती रही।

-दर्द के मारे नींद नहीं आई तो पता चला
जब बच्ची के साथ वीरेन्द्र घर पहुंचा तो उसने बच्ची की मां से कहा कि उसकी तबीयत ठीक नहीं है इसे सुला दे। इस पर मां बच्ची को लेकर सुलाने चली गई। लेकिन वह लगातार दर्द से करहाते हुए रोती जा रही थी। जब दर्द असहनीय हुआ तो तो मां को सारी आपबीती सुनाई। इस पर मां उसे बाथरूम में ले गई तथा देखा तो उसके होश उड़ गए। मां ने यह घटना परिवार के लोगों को बताई। साथ पिता को बुलाया। परिवार के लोगों ने बच्ची को बांसवाड़ा के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां सुबह चिकित्सक ने जांच कर पुलिस को बुलाया और घटना की जानकारी दी। जहां पुलिस ने बालिका मेडिकल करवाकर आरोपी को उसके खेत से गिरफ्तार कर लिया।

कोई जवाब दें