ATS

जयपुर। राजस्थान के आतंकवादी निरोधक दस्ते ने हथियारों के अवैध लाइसेंस बनाने और हथियार बेचने वाले एक अंतरराज्यीय गैंग को पकड़ा है। राजस्थान एटीएस के एडीजी उमेश मिश्रा ने बताया कि चार माह पहले सूचना मिली थी कि एक गिरेाह अवैध रूप से हथियार बेचने-खरीदने और आम्र्स लाइसेंस बनाने का कारोबार करता है। गिरोह से जुड़े लोग वर्ष 2007-08 में बने लाइसेंस में कांट-छांट कर अब नई तारीख से बनाकर देते हैं। इस गिरोह को पकडऩे के लिए 12 टीमों का गठन किया गया। इन टीमों को अबोहर,जम्मू भेजा गया जिसके माध्यम से गिरोह से जुड़े लोगों के बारे में जानकारी जुटाई गई।

इसी दौरान उदयपुर निवासी एक व्यक्ति ने एटीएस मुख्यालय में अजमेर निवासी जुबेर नाम के व्यक्ति के खिलाफ सूचना दी। सूचना में बताया गया था कि जुबेर ने आम्र्स लाइसेंस बनाने हथियार उपलब्ध करवाकर 12 लाख रुपए लिए है लेकिन जो हथियार व आम्र्स लाइसेंस उसे उपलब्ध करवाए, वे संदिग्ध लग रहे है। इस पर जुबेर से एक बोगस ग्राहक के जरिए सम्पर्क किया गया और उसे दो लाख रुपए का एक चेक व 30 हजार रुपए नकद तथा छह अवैध हथियारों के साथ रंगे हाथों पकड़ लिया गया। इसके बाद अन्य आरोपियों के घरों पर भी छापा मारे गए जहां अवैध आम्र्स लाइसेंस व अवैध हथियार पड़े हुए मिले। जुबेर से मिली जानकारी के बाद जुबेर के सहयोगी विशाल व राहुल को पकड़ा गया और राजस्थान के अलावा पंजाब,जम्मू,मध्यप्रदेश में अलग-अलग जगहों पर दबिश देकर हथियार लाइसेंस व अवैध हथियार बरामद किए गए।

कोई जवाब दें