offense

नई दिल्ली। हमारे समाज में अंधविश्वास, ढ़ोंग-पाखंड, किस कदर फैल चुका है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि इनके बारे में रोजाना समाचार-पत्रों में कोई न कोई खबर अवश्य ही छपी होती है। जिस पढ़कर मन विचलित हो उठता है मगर यह सिलसिला है की थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। इसी कड़ी एक और वारदात सामने आई है जहां छत्तीसगढ़ के जशपुर में भूत भगाने के नाम पर 13 साल की बच्ची से दुष्कर्म के अरोपी बाबा को बुधवार को गिरफ्तार किया गया। आरोपी बाबा ने बच्ची की चाची से भी दुष्कर्म किया था।

पुलिस के मुताबिक जशपुर के बगीचा थाना अंतर्गत कुर्रोग में बीते पांच सितंबर को नाबालिग का स्कूल में दाखिला कराने के लिए उसके दादा ले जा रहे थे। इसी दौरान रास्ते में आरोपी किसन मानिकपुरी मिला। आरोपी ने नाबालिग के दादा से कहा कि आज स्कूल बंद है। इसलिए वे कल आएं वो भी उनके साथ अपने बच्चे का दाखिला कराने जाएगा। बगीचा पुलिस ने बताया कि पीड़िता के दादा ने आरोपी किशन से पूछा कि वो किसी वैद्य को जानता है, जिससे नाबालिग का इलाज कराया जाए. क्योंकि नाबालिग बीमार रहती है। इस पर आरोपी ने खुद झाड़—फूंक करने की बात कही और दूसरे दिन छह सितंबर की शाम को पीड़ित के घर पहुंच गया। आरोपी ने पीड़ित नाबालिग को झाड़-फूंक करने के बहाने एक कमरे में अकेले ले गया और उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद आरोपी बाहर निकलकर नाबालिग को तीन दिन तक उसके घर लाकर इलाज कराने कहा। एक दिन बाद फिर आरोपी पीड़िता के घर पहुंचा और नाबालिग की चाची पर भूत का साया होने की बात कही और उसका इलाज करने के लिए बंद कमरे में ले गया।

आरोपी ने नाबालिग की चाची के साथ भी दुष्कर्म किया। इसके बाद नाबालिग की चाची ने घटना की जानकारी अपने पति को दी। इसके बाद पीड़ित के परिजनों ने बगीचा थानें में मामले की शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ दुष्कर्म का मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू की। इसके बाद बुधवार को आरोपी किशन मानिकपुरी को गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस की मानें तो किशन झाड़-फूंक का ढोंग कर के कई महिलाओं को अपनी हवस का शिकार बना चुका है। पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

 

 

 

 

कोई जवाब दें