Responsibility for every citizen to make Uttar Pradesh attractive to investors: Yogi

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उत्तर प्रदेश को देश का सबसे बड़ा बाजार बताते हुये आज कहा कि राज्य को निवेशकों के लिए आकर्षक बनाना हर नागरिक की जिम्मेदारी है। योगी ने यहां एचसीएल फाउण्डेशन के एक कार्यक्रम में कहा, उत्तर प्रदेश को निवेशकों के लिए आकर्षक बनाने की जिम्मेदारी केवल सरकार की ही नहीं बल्कि हर नागरिक की है। उन्होंने कहा कि भारत का सबसे बडा प्रदेश होने के नाते उत्तर प्रदेश देश का सबसे बडा बाजार भी है इसलिए राज्य को निवेश के अनुकूल बनाने में हर किसी को साथ आना चाहिए । योगी ने प्रदेश में एचसीएल फाउण्डेशन की ओर से कारपोरेट सामाजिक उत्तरदायित्व (सीएसआर) के तहतसमुदाय कार्यक्रम के जरिए किये गये प्रयासों की सराहना की। मुख्यमंत्री ने कहा मुझे पूरा भरोसा है कि जिस भावना के साथ यह परियोजना लागू की जा रही है, वह निश्चित रूप से हर नागरिक के विकास में मदद करेगी । उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश से शुरूआत करने वाला एचसीएल अब वैश्विक संगठन संगठन बन चुका है और इसने उत्तर प्रदेश को ही अपनी सबसे बडी सीएसआर परियोजना के लिए चुना है। समुदाय की शुरूआत 2015 में हुई थी।

वर्तमान में यह परियोजना उत्तर प्रदेश में हरदोई जिले के तीन हिस्सों में कार्यान्वित की जा रही है। एचसीएल कारपोरेशन की मुख्य कार्यकारी अधिकारी रोशनी नादर मल्होत्रा ने कहा कि परियोजना के माध्यम से मकसद है कि माडल गांवों का टिकाऊ और अनुकरण योग्य ब्लूप्रिंट तैयार हो। उत्तर प्रदेश में ऐसे मॉडल गांवों का विकास लोगों को उचित निर्णय लेने में मदद करेगा और उनके बच्चों के लिए जीवन की गुणवत्ता बढाने में सहायता करेगा। योगी ने हाल ही में दो दर्जन से अधिक अमेरिकी कंपनियों के प्रतिनिधियों से मुलाकात की थी। प्रतिनिधिमंडल उत्तर प्रदेश में निवेश के अवसर तलाशने आया था। योगी ने अमेरिकी कंपनियों को आश्वस्त किया कि उनकी सरकार निवेशकों के अनुकूल माहौल मुहैया कराने के लिए कटिबद्ध है। प्रतिनिधिमंडल में बोइंग, फेसबुक, एडोब, कोका कोला, मास्टरकार्ड, मोन्सेंटो, उबर, हनीवेल सहित कई कंपनियों के प्रतिनिधि शामिल थे। हाल ही में मारिशस यात्रा के दौरान योगी ने अनिवासी भारतीयों से मुलाकात कर उन्हें उत्तर प्रदेश में निवेश के लिए आमंत्रित किया। योगी ने इस दौरान उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार द्वारा निवेशकों की मदद के लिए उठाये गये कदमों से भी अवगत कराया।

कोई जवाब दें