jaise-jaise lokasabha chunaav najadeek aate ja rahe hai vaise-vaise ab raajaneetik garmaahat badhatee ja rahee hai. khaasakar yoopee mein to is samay ghamaasaan macha hua hai isaka kaaran bhee vahaan lokasabha kee 80 seeten hain aur chaar

प्रयागराज। जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव नजदीक आते जा रहे है वैसे-वैसे अब राजनीतिक गर्माहट बढ़ती जा रही है। खासकर यूपी में तो इस समय घमासान मचा हुआ है इसका कारण भी वहां लोकसभा की 80 सीटें हैं और चार प्रमुख पार्टियों में ज्यादा सीटें जीतने की होड़ मची हुई है। इसी राजनीतिक उठापटक का नजारा आज देखने को मिला जहां समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव को इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में मंगलवार को आयोजित शपथग्रहण कार्यक्रम में जाने से रोका दिया गया। प्रशासन द्वारा लिए गए इस ऐक्शन के खिलाफ इलाहाबाद विश्वविद्यालय में एसपी गुट के नेता और उनके समर्थक आग बबूला हो गए और पथराव शुरू कर दिया। हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने उपद्रवियों पर ऐक्शन लिया। इस दौरान उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले से एसपी सांसद धर्मेंद्र यादव घायल हो गए। तस्वीर में नजर आ रहा है कि धर्मेंद्र यादव को सिर में चोट आई है।

बता दें कि एसपी प्रमुख अखिलेश को कार्यक्रम में जाने से रोकने पर एसपी कार्यकर्ता आक्रोशित हो गए। इसके बाद उन्होंने नारेबाजी, पथराव और पुतला दहन भी किया। इस दौरान पुलिस ने उन्हें समझाने-बुझाने की कोशिश भी की। लेकिन समझाने के बावजूद न मानने पर पुलिस ने उनपर ऐक्शन लिया। एसपी के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव ने कहा, ‘मैं सीधे तौर पर सीएम को जिम्मेदार ठहराता हूं। अखिलेश के पास इजाजत थी। मुख्यमंत्री के निर्देश पर उन्हें (अखिलेश) रोका गया।’ रामगोपाल ने यह भी कहा, ‘अखिलेश से बिना शर्त यह सरकार माफी मांगे।’ वहीं, मैनपुरी से एसपी सांसद तेज प्रताप सिंह यादव ने कहा, ‘जब प्रदेश की कमान एक अपराधी के हाथ में हो तो और उम्मीद भी क्या की जा सकती है। पुलिस के दम पर अब ये सरकार नहीं चलेगी।’ इलाहाबाद जाने से रोके जाने के बाद अखिलेश यादव ने ट्वीट किया, ‘एक छात्र नेता के शपथ ग्रहण कार्यक्रम से सरकार इतनी डर रही है कि मुझे लखनऊ हवाई अड्डे पर रोका जा रहा है।’ इलाहाबाद यूनिवर्सिटी में मंगलवार को छात्रसंघ का उद्घाटन समारोह होना था।

कोई जवाब दें