Honeypreet

सिरसा। साध्वियों से लेकर हनीप्रीत तक राम रहीम के लिए करनवाचौथ का व्रत रखने की बात पर डेरा सच्चा सौदा ने स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि इस व्रत को महज लड़कियों से जोड़कर नहीं देखा जाएं। डेरे का कहना है कि राम रहीम ने किसी को व्रत रखने के लिए नहीं कहा था बल्कि भक्त खुद इस व्रत को अपनी मर्जी से रखते थे। होली, दीवाली, ईद की तरह करवाचौथ का त्योहार भी मनाया जाता था, जिसे पुरुष भी रखते थे।

उनकी मंशा ये होती थी कि गुरमीत राम रहीम की लंबी उम्र हो। बता दें कि हाल में सोशल मीडिया पर एक ऐसा वीडियो वायरल हुआ था जिसमें गुरमीत राम रहीम को महिला अनुयायियों से ये कहते सुना जा सकता है कि एक साधारण आदमी (पति) के लिए व्रत रखने से कुछ नहीं होगा, इसलिए उन्हें अपने भगवान (गुरु) के लिए व्रत रखना चाहिए जो पूरे ब्रह्मांड का पति है। गुरमीत खुद को ही सर्वशक्तिमान बताया करता था।

कोई जवाब दें