Sadhvi sexual abuse, Sadhvi misdemeanor case, Baba Gurmeet Ram Rahim Isan, CBI court, convict, Sirsa Dera headquarters, army capture, Dera supporter deaths, General Prison, Samaratya Jail Haryana
Sadhvi sexual abuse, Sadhvi misdemeanor case, Baba Gurmeet Ram Rahim Isan, CBI court, convict, Sirsa Dera headquarters, army capture, Dera supporter deaths, General Prison, Samaratya Jail Haryana

जयपुर। हरियाणा के बहुचर्चित पत्रकार रामचन्द्र छत्रपति मर्डर केस का फैसला आज आएगा। मामले में यौन शोषण के मामले में सजा भुगत रहे बाबा राम रहीम मुख्य आरोपी है। वे बीस साल की सजा काट रहे हैं। पंचकूला की सीबीआई मामलात की विशेष अदालत ने इस मामले में आरोपी गुरमीत राम रहीम, कृष्ण लाल, निर्मल और कुलदीप को कोर्ट में पेश करने के आदेश दिए हैं। हालांकि सुरक्षा को देखते हुए कोर्ट वीडियो क्रांफ्रेंसिंग के माध्यम से आदेश में फैसला सुनाएगी।

गौरतलब है कि पत्रकार रामचन्द्र छत्रपति ने बाबा राम रहीम के साध्वियों के यौन शोषण मामले को सबसे पहले उजागर किया था। राम रहीम भी इस मामले में ही सजा भुगत रहे हैं। सबसे पहले रामचन्द्र ने साध्वी की ओर से लिखे गए पत्र के आधार अपने अखबार में राम रहीम के डेरे में हो रहे यौन अपराधों का खुलासा किया था। तब बाबा राम रहीम और उनके चेलों ने रामचन्द्र छत्रपति को धमकाया। प्रलोभन दिया, लेकिन वे विचलित नहीं हुए और राम रहीम की कारगुजारियों को उजागर करते रहे।

इससे नाराज होकर 24 अक्टूबर 2002 को रामचन्द्र पर जानलेवा हमला कर दिया। एक महीने बाद 21 नवंबर 2002 को दिल्ली के अपोलो अस्पताल में रामचन्द्र की मौत हो गई। पुलिस जांच में सामने आया कि बाइक पर कुलदीप ने पास से रामचन्द्र को गोली मारी। उसके साथ निर्मल भी था। जिस रिवाल्वर से गोली चलाई, उसका लाइसेंस डेरा सच्चा सौदा के प्रबंधक कृष्ण लाल के नाम से था। राम रहीम ने साजिश रचकर रामचन्द्र की हत्या करवाने के आरोप है। इस मामले में कोर्ट आज फैसला देगा।

कोई जवाब दें