नई दिल्ली। दिल्ली में एक सभा के दौरान कुछ लोगों ने प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी पर डंडों तथा पत्थरों से हमला किया जिससे उन्हें मामूली चोटें आई है और उनका चश्मा भी टूट गया है। इस घटना से भाजपा कार्यकर्तााओं में भारी रोष व्याप्त हो गया है। दिल्ली में बवाना उपचुनाव सिर पर हैं और इस बीच बीजेपी ने दावा किया है कि उसके प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी पर कुछ लोगों ने पत्थर और डंडे फेंके हैं। कथित हादसा बवाना में आयोजित की गई जनसभा के दौरान हुआ। जनसभा में भीड़-भाड़ के बीच मंच के पीछे से उन पर लकड़ी का छोटा डंडा और कुछ पत्थर फेंके । बीजेपी का दावा है कि हमले में मनोज तिवारी को हाथ पर मामूली चोट आई। पार्टी ने एफआईआर दर्ज कराई है जिसमें लिखा है कि वारदात के बाद हमलावर अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो गया। बताया जा रह है कि हमले के बाद भी मनोज तिवारी ने भाषण जारी रखते हुए कहा कि वह ऐसे हमले से घबराने वाले नहीं हैं। एफआईआर भाजपा की स्थानीय कार्यकर्ता बबिता राठौर ने नरेला थाने में दर्ज कराई है।

पुलिस एफआईआर के मुताबिक मनोज तिवारी शनिवार रात करीब आठ बजे बवाना जेजे कॉलोनी के झंडा चौक पर जनसभा को संबोधित कर रहे थे। तभी पीछे से फेंका गया एक डंडा उनके हाथ पर लगा। वह जब तक कुछ समझ पाते, तब तक कुछ पत्थर भी फेंके गए। हमले के बाद भी मनोज तिवारी ने भाषण जारी रखते हुए शांति बनाए रखने की अपील की। इस बीच कार्यकतार्ओं ने आसपास के इलाके में हमलावर की तलाश भी की, लेकिन कुछ पता नहीं चला। भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया कि विपक्षी पार्टियां हार के डर से अब हिंसा का सहारा ले रही हैं, लेकिन भाजपा इससे डरने वाली नहीं है। हम विकास के लिए अपना काम करते रहेंगे। चाहे दूसरे लोग जो तिकड़म अपना लें। जनता आने वाले समय में इन्हें जवाब देगी। इस तरह के हमले विपक्षियों में लगातार बढ़ रही हताशा को दिखाते हैं। यहां पर बता दें कि दिल्ली की बवाना विधानसभा सीट पर 23 अगस्त को मतदान होना है। मतों की गणना 28 अगस्त को होगी। चुनाव आयोग ने विधानसभा सीट पर उप-चुनाव के तहत होने वाले मतदान में वीवीपैट युक्त इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) इस्तेमाल करने का फैसला किया है।

कोई जवाब दें