जयपुर। देश की सबसे प्रतिष्ठित मेडिकल प्रवेश परीक्षा एम्स एवं सबसे बड़ी मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट-2018 में सफल रहे विद्यार्थियों के सम्मान में एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट का विक्ट्री सेलिब्रेशन लैंडमार्क कुन्हाड़ी स्थित एलन सम्यक कैम्पस के सद्गुण सभागार में हुआ। दोनों परीक्षाओं में सफल रहे विद्यार्थियों को 1 करोड़ 64 लाख 20 हजार के पुरस्कार व छात्रवृत्तियां प्रदान की गईं। समारोह में मुख्य अतिथि योग गुरु स्वामी रामदेव महाराज रहे। यहां उन्होंने श्रेष्ठ विद्यार्थियों को पुरस्कृत किया और उन्हें जीवन की राह दिखाई। उन्होंने कहा कि वर्तमान में जीएं और अपने हर कार्य को पूरे मनोयोग से करें।

एलन परिवार की मातुश्री कृष्णादेवी मानधना, निदेशक गोविंद माहेश्वरी, राजेश माहेश्वरी, नवीन माहेश्वरी व बृजेश माहेश्वरी ने स्वामी रामदेव का सम्मान करते हुए अभिनंदन पत्र भेंट किया। स्वामी रामदेव ने कहा कि कोटा और एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट से गहरा नाता हो गया है। राजेश माहेश्वरी ने दो विद्यार्थियों से 30 साल पहले इस संस्था की नींव रखी और मैंने भी दो शिष्यों से योग सिखाना शुरू किया।

एम्स में टॉप 10 में 9 विद्यार्थी आए हैं। कार्यक्रम में निर्धन परिवार की छात्रा विशाखा जादौन को स्वामी रामदेव ने पुरस्कृत किया। इस छात्रा को आगामी चार वर्ष तक पढ़ाई के लिए एलन द्वारा प्रतिमाह स्कॉलरशिप दी जाएगी। विशाखा ने नीट में 573 अंक प्राप्त किए हैं तथा आॅल इंडिया 3974 रैंक प्राप्त की है। सामान्य वर्ग में रैंक 2690 है। विशाखा के पिता हिम्मत सिंह वैल्डर हैं। इस अवसर पर स्वामी रामदेव ने पत्रक का विमोचन किया, जिसमें योग का महत्व बताया गया। ये 1 लाख 8 हजार पत्रक विद्यार्थियों को वितरित किए जाएंगे। कार्यक्रम में निदेशक गोविन्द माहेश्वरी ने बताया कि इसी सत्र से एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट में रोजाना 9 लाख ओम का उच्चारण किया जाएगा।

कोई जवाब दें