नई दिल्ली। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने बीते शनिवार की रात एक ट्विटर एक पोस्ट डाली। जो ट्विटर के इतिहास में मील का पत्थर साबित हुई। बराक ओबामा ने शनिवार की रात्रि एक ट्वीट करते हुए तस्वीर पोस्ट की।

इसमें उन्होंने लिखा कि किसी के रंग या उसके बैकग्राउंड या फिर उसके धर्म के प्रति नफरत लेकर कोई पैदा नहीं होता। ”लोगों को नफरत करना सीखना चाहिए और यदि वो नफरत करना सीख सकते हैं तो उन्हें प्यार करना सिखाया जा सकता है, इंसानी हृदय में प्यार ख़ुद-ब-ख़ुद आ जाता है” उस वाक्य ओबामा ने नेल्सन मंडेला की ऑटोबयोग्राफी द लांग वॉक टू फ्रीडम से लिया। ओबामा ने वर्जीनिया में 13 अगस्त को हुए हमले के बाद इसे ट्वीट किया। यह तस्वीर वर्ष 2011 की है। जब ओबामा मैरीलैंड के बेथेस्डा स्थित डे-केयर सेंटर पहुंचे थे।

इस तस्वीर उस वक्त व्हाइट हाउस के आधिकारिक फोटोग्राफर पेटे शौजा ने ली थी। जिसमें ओबामा एक खिड़की से झांकते बच्चों को देखकर मुस्कुरा रहे थे। ये बच्चे अलग-अलग परिवारों के थे और ओबामा इन्हें देखकर बड़े ही खुश नजर आए। जब डोनाल्ड ट्रंप राष्ट्रपति बनने उसके बाद शौजा ने लगातार टॉपिक आधारित तस्वीरें इंस्टाग्राम पर शेयर की। जिसमें ट्रंप के मुकाबले ओबामा को बेहतर दिखाने की कोशिश की गई। ओबामा के इस ट्वीट को 28 लाख से ज्यादा लोगों ने लाइक किया है। इस टवीट ने मई माह में मैनचेस्टर आतंकी हमले की निंदा करने वाले एरिआना ग्रांडे के ट्वीट के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया।

कोई जवाब दें