जयपुर। गैंगस्टर आनंदपाल सिंह के शव के अंतिम संस्कार को लेकर प्रशासन पूरी तरह सर्तक ही नजर आया। सांवराद में जहां पहले कफ्र्यू लगा हुआ था। वहां प्रशासन ने ग्रामीणों को शव यात्रा में शामिल होने के लिए एक घंटे की कफ्र्यू में ढील दी गई। जबकि अंतिम संस्कार में मीडिया की मौजूदगी को पूरी तरह प्रतिबंधित ही कर दिया गया।

प्रशासन ने आनंदपाल के शव का अंतिम संस्कार कराने को लेकर हर कदम फूंक-फूंक कर ही रखा। यही वजह रही कि आनंदपाल के शव के अंतिम संस्कार को लेकर प्रशासन ने तैयारियां शुरू की तो खुद मीडिया को एकाएक इसकी भनक नहीं लगी। सूचना मिलने के बाद मीडियाकर्मी सांवराद पहुंचने लगे। लेकिन उन्हें चेकपोस्ट पर ही रोक दिया गया। जबकि उनके पास प्रशासन की ओर से जारी किया गया अधिकृत पास होने के बाद भी गांव में प्रवेश नहीं कराया गया।

जिससे अंतिम संस्कार को लेकर किए गए प्रयासों की स्थिति सामने नहीं आ सकी। इसको लेकर मीडियाकमिज़्यों में गहरा रोष ही देखने को मिला।

कोई जवाब दें