Rape

जयपुर। साझे की भूमि का तबादला करने की एवज में 1० साल पहले कोटपूतली में 2० हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किए गए तत्कालीन भू.अभिलेख निरीक्षकध्गिरदावर छीतर मल वर्मा ;56द्ध निवासी गांव चूरी हाल आदर्श नगर.कोटपूतली को एसीबी मामलों की विशेष अदालत.3 में जज सतीश कुमार ने शुक्रवार को 3 साल की जेल एवं 5० हजार रुपए के जुमार्ने की सजा से दण्डित किया।

इस संबंध में गांव दूदावास निवासी किसान पूरण मल गुर्जर ने 15 जुलाई 2००8 को एसीबी में शिकायत दर्ज कराई थी कि कृषि भूमि का तबादला कराने के लिए अभियान में पटवारी से रिपोर्ट करवाली थीए लेकिन टोरडा गुर्जरान के गिरदावर छीतरमल ने कई चक्कर लगवाए एवं 2० हजार रुपए की रिश्वत मांगी। एसीबी ने 15 को ही मांग का सत्यापन कर लिया और 16 जुलाई को पैसे लेकर कोटपूतली बुलाया। 16 को रुपए लेकर मिला तो कहा काम पूरा होने के बाद दे देना। 17 को गिरदावर ने फोन कर 18 जुलाई को घर बुलाया। रुपए लेकर टेबल पर रख दिए। एसीबी के पूछने पर कहा कि गलती हो गईए माफ कर दो। जांच में 14ए 16 व 17 को दोनों के बीच 3.3 बार बातचीत होना सीडीआर से साबित हो गया। 16 जनवरीए 2००9 को एफएसएल रिपोर्ट सकारात्मक आई। आवाज का नमूना नहीं दिया। तत्कालीन कलक्टर कुलदीप रांका ने 3० अक्टूबरए 2००9 को छीतरमल के खिलाफ अभियोजन स्वीकृति दी थी। बाद चालान ट्रायल में कोर्ट ने दोषी मानते हुए सजा सुना दी।

कोई जवाब दें