PM Narendra Modi
PM Narendra Modi

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी गुजरात में जामनगर के दौरे पर, गुरू गोबिंद सिंह अस्पताल का नया भवन राष्ट्र को समर्पित किया, बांद्रा – जामनगर हमसफर एक्सप्रेस को झंडी दिखाई
जामनगर. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज गुजरात के जामनगर में बांद्रा जामनगर हमसफर एक्सप्रेस को झंडी दिखाई। उन्होंने गुरू गोबिंद सिंह अस्पताल के नए 750 बेड एनेक्सी को राष्ट्र को समर्पित किया और विभिन्न एसएयूएनआई परियोजनाओं का अनावरण किया। उन्होंने आजी- 3 से खिजादिया तक 51 किलोमीटर पाइपलाइन सहित जामनगर में अन्य विकास परियोजनाओं को भी आरंभ किया।

एक विशाल जनसमूह को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने जल कमी की समस्या से निपटने में पिछले 2 दशको के दौरान गुजरात सरकार के संकल्प और कड़ी मेहनत की चर्चा की। इस संदर्भ में उन्होंने गुजरात में “टैंकर राज” को अनुमति न देने के उनके दृढ़ निश्चय और किस प्रकार सरदार सरोवर बांध ने गुजरात के लोगों को राहत दी है, का उल्लेख किया। उन्होंने नागरिकों से वर्तमान और भविष्य की पीढ़ी के लाभ के लिए जल के प्रत्येक बूंद के संरक्षण की अपील की। गुजरात में स्वास्थ्य क्षेत्र में आई क्रांति का स्वागत करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों के दौरान गुजरात में स्थापित अस्पतालों से गरीबों को काफी लाभ पहुंचेगा। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा आरंभ आयुष्मान भारत योजना गरीबों के लिए किफायती और गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य देखभाल सुनिश्चित करेगी।

प्रधानमंत्री ने कहा कि निम्न विचारित अल्पकालिक उपायों की जगह देश के सामने आने वाली चुनौतियों से निपटने के लिए संरचनात्मक और दीर्घकालिक उपायों की आवश्यकता है। इस संदर्भ में उन्होंने केन्द्र सरकार द्वारा लागू दीर्घकालिक दूरदर्शी योजनाओं का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री- किसान स्कीम किसानों के कल्याण के लिए एक दीर्घकालिक और व्यापक योजना है।
एमएसएमई सेक्टर को बढ़ावा देने में केन्द्र सरकार के प्रयासों की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि ऋण की सहज उपलब्धता और लोकोन्मुख जीएसटी से युवाओं को काफी लाभ पहुंचेगा। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा की गई पहलों ने व्यासाय की सुगमता रैंकिंग में बेहतरी सुनिश्चित की है। सशस्त्र बलों की कोशिशों की सराहना करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि पूरा देश हमारे सैनिकों पर गर्व महसूस कर रहा है। उन्होंने कहा कि आतंकवाद का खतरा खत्म होना ही है।

कोई जवाब दें