जयपुर। राजस्थान के अलवर जिले में गौवंश तस्करी के कथित आरोप में गायें ला रहे एक समुदाय के लोगों के साथ दूसरे समुदाय के लोगों ने गंभीर मारपीट की। हमलावर गौरक्षक संगठन से बताए जाते हैं। राहगीरों ने भी हमलावरों का साथ दिया और उनके साथ मारपीट की। इससे एक जने पहलु खान की मौत हो गई। बताया जाता है कि गौरक्षक दल के लोगों ने बुरी तरह से मारा पीटा, जिससे उसकी अस्पताल में उपचार के मौत हो गई। हमलावरों की मारपीट में गंभीर घायल अलवर जिले के अजमत खान ने बताया कि वे सरकारी मेले से गायें खरीदकर मेवात के नूंह में ले जा रहे थे। बहरोड के पास कुछ मोटर साइकिल सवार लोगों ने उनकी पिकअप को रुकवाया। फिर गौवंश तस्करी का आरोप लगाते हुए मारपीट करने लगे। लोगों ने हमें खींचते हुए बाहर निकाला। हमने मेले में गायों की खरीद के दस्तावेज दिखाएं, लेकिन उन्होंने फाड़ दिया। मेरे सामने पहलू खान को बुरी तरह पिटाई की। हॉकी, लाठी, पत्थर, बेल्ट से मुझे और पहलू खाना को मारा। पहलू खान के बेहोश होने पर मरा समझकर छोड़ दिया। अजमत ने आरोप लगाया कि वे लोग मुझे पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने वाले थे। पेट्रोल लेने के लिए उनमें से कुछ गए भी, लेकिन मारपीट की सूचना मिलने पर पुलिस आने से मेरी जान बच गई। अगर पुलिस नहीं आती तो वे मुझे जिंदा जला देते। पुलिस भगवान बनकर आई है। मुझे इतना मारा कि मेरे सिर और कमर की हड्डी में गंभीर चोटें आई हैं। पुलिस ने मुझे व पहलू खान को अस्पताल पहुंचाया। अजमत ने कहा कि हम डेयरी का धंधा करते हैं। इसलिए मेले से गायें खरीदकर ला रहे थे।

कोई जवाब दें