नई दिल्ली। भ्रष्टाचार के मामले में जजों पर आरोप लगाने व सुप्रीम कोर्ट की अवमानना के मामले में प्रेसीडेंसी सुधार गृह में कैद कलकत्ता हाईकोर्ट के पूर्व जस्टिस सीएस कर्णन ने सजा माफ कराने को लेकर नवनियुक्त राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के समक्ष आवेदन किया है। सुप्रीम कोर्ट ने पूर्व जस्टिस कर्णन को 6 माह की सजा सुनाई है।

इस मामले में जस्टिस कर्णन के वकील मैथ्यूज जे नेदुंपारा ने राष्ट्रपति कार्यालय में उनका प्रतिनिधित्व किया। मैथ्यूज ने बताया कि राष्ट्रपति कार्यालय में पूर्व जस्टिस कर्णन को मिली सजा के मामले में माफी देने की अर्जी दी गई है। उन्होंने कहा कि हम चाहते हैं कि इस मामले में जितनी जल्दी हो सके राष्ट्रपति से सुनवाई चाहते हैं। यह अर्जी संविधान के अनुच्छेद 72 के तहत पेश की गई है। बता दें न्यायालय की अवमानना के मामले में सुप्रीम कोर्ट की 7 जजों की बेंच ने 9 मई को उन्हें 6 माह कैद की सजा सुनाई थी। इसके बाद से ही वे सजा से बचते रहे। बाद में 20 जून को उन्हें तमिलनाडु से गिरफ्तार कर लिया गया। वे अभी प्रेसीडेंसी सुधार गृह में कैद हैं।

कोई जवाब दें