Farmers celebrate Bhaiyajyadas at the place of land Samadhi Satyagraha

जयपुर। नींदड़ बचाओ युवा किसान संघर्ष समिति के आह्वान पर डॉ. नगेन्द्र सिंह शेखावत के नेतृत्व में जेडीए की जमीन अवाप्ति के विरोध में जमीन को अवाप्ति से मुक्त करवाने के लिए नींदड़ गांव के किसानों व कालोनीवासियों द्वारा किया जा रहा जमीन समाधि सत्याग्रह आज 20वें दिन भी जारी रहा। आज जमीन समाधि सत्याग्रह में 750 महिलाओं सहित 1350 से ज्यादा किसानों ने सत्याग्रह करते हुए क्रमिक उपवास किया। साथ ही दिन में जमीन समाधि सत्याग्रह स्थल पर ही किसानों के द्वारा भैयादूज का त्यौहार मनाया गया। इसके पश्चात् शाम को दीपावली स्नेह मिलन पर हजारों की संख्या में किसान जमीन समाधि सत्याग्रह स्थल पर एकत्र हुए। दीपावली स्नेह मिलन पर हुई बड़ी सभा को सम्बोधित करते हुए डॉ. नगेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा कि सरकार के लोग कहते हैं कि नींदड़ के किसान गड्डे खोद कर बैठे है लेकिन सरकार के लोगों को पता होना चाहिए कि नींदड़ के किसान समाधि में बैठे है और समाधि जैसे पवित्र स्थल पर सत्याग्रह करते हुए इतनी ताकत पैदा कर रहे हैं कि आने वाले दिनों में सरकार ने हमारी बात नहीं मानी तो सरकार को इन गड्डों में दफन कर देंगे। डॉ. नगेन्द्र सिंह शेखावत ने सरकार के मानसिक दिवालियापन की ओर संकेत करते हुए चेतावनी दी कि नींदड़ के किसानों के साथ जोरजबरदस्ती करना महंगा पड़ेगा।

नींदड़ का किसान सरकार की धमकी से डरने वाला नहीं है। सरकार चाहे पूरा जोर लगाये लेकिन नींदड़ का किसान अपने जीते जी एक इंच जमीन भी सरकार को नहीं देने वाला है। सभा को सम्बोधित करते हुए अखिल भारतीय किसान सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमराराम जी ने कहा कि राजस्थान के पांच करोड़ किसान नींदड़ के जमीन समाधि सत्याग्रह के साथ है और वे नींदड़ के किसानों की माँग का समर्थन करते हुए सत्याग्रह को मजबूत करेंगे। सभा को रोजदा ग्राम पंचायत के सरपंच जयराम कुमावत ने भी जमीन समाधि सत्याग्रह को अपना पूर्ण समर्थन दिया। सभा के अन्त में संघर्ष समिति के अध्यक्ष कैलाष बोहरा ने सभी का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए जमीन समाधि सत्याग्रह को मजबूत करने का संकल्प लिया।

कोई जवाब दें