Fake kidnapping of son for repaying debt

चेन्नई। यहां एक व्यक्ति ने कर्ज चुकाने के लिए अपने ही बेटे के अपहरण की झूठी कहानी रची लेकिन वह अपने मंसूबों में कामयाब नहीं हो सका और पुलिस ने कल उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने आज यह जानकारी दी। पुलिस ने पाया कि यहां एक ट्रेवल्स फर्म चलाने वाले 32 वर्षीय पी रविकुमार ने कर्ज चुकाने के लिए अपने ही तीन वर्षीय बेटे के अपहरण की झूठी कहानी रची थी जिसके बाद कल उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस ने बताया कि आरोपी व्यक्ति ने मंगलवार को बेटे के अपहरण का नाटक किया और अपनी पत्नी को फोन करते हुए कहा कि कुछ लोगों ने बच्चे को स्कूल छोड़ने के दौरान उस पर हमला किया तथा उसके बेटे का ह्यअपहरणह्ण कर लिया।

आरोपी ने अपनी पत्नी से कहा कि पांच लाख रुपये की फिरौती की मांग की गयी है और इसके बाद पत्नी ने नकदी का प्रबंध करने के लिए अपने कुछ आभूषणों को गिरवी रख दिया। रविकुमार ने अपने परिवार से कहा कि अपहरणकतार्ओं ने उससे ह्यफिरौतीह्ण की राशि लेकर अकेले आने के लिए कहा है और वह रुपये लेकर चला गया। हालांकि उसकी पत्नी ने पुलिस के समक्ष शिकायत करने को प्राथमिकता दी जिसके बाद जांच शुरू की गयी। इस बीच आरोपी व्यक्ति बच्चे के साथ घर लौट आया जिसके बाद पुलिस को संदेह हुआ। पुलिस ने उससे पूछताछ की और उसने अपहरण की झूठी कहानी बनाये जाने के बारे में खुलासा किया। रविकुमार ने कबूल किया कि कर्ज चुकाने के लिए उसने अपने बेटे के अपहरण का नाटक किया। उसने मित्र के घर पर बेटे को छोड़ दिया था और उससे कुछ समय के लिए बेटे का ध्यान रखने के लिए कहा। ऐसा बताया जा रहा है कि मित्र को रविकुमार की योजना के बारे में जानकारी नहीं थी।

कोई जवाब दें