esaee bhartee pareeksha:

जयपुर। रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स की ऑन लाईन सब इंस्पेक्टर भर्ती परीक्षा में नकल एवं गडबड़ी करने के अपराध में 1० जनवरी को गिरफ्तार किए गए 7 आरोपियों को एसओजी ने अदालत में पेश कर 7 दिन का रिमाण्ड मांगा। बाद में जज अरविन्द जांगिड ने अभियुक्त दिनेश विश्नोई (45) निवासी चितलवाना-जालौर, प्रदीप जाट (34) निवासी झुंझुनूं हाल मालवीय नगर, कैलाश विश्नोई (32) निवासी चितलवाना, सुरेश जाट (24) निवासी बोबास-जोबनेर, जयपुर, राकेश चौधरी (28) निवासी अजराजपुरा-सेज, विष्णु चौधरी (24) निवासी तितरिया-चाकसू एवं मुकेश जाट (3०) निवासी अजराजपुरा को 15 जनवरी तक रिमाण्ड पर एसओजी को सौंप दिया। मामले में कैलाश, दिनेश सहित अन्य आरोपी फरार हैं।

अभियुक्तों पर आईपीसी की धारा 419, 42०, 12० बी, सार्वजनिक परीक्षा एक्ट की धारा 3, 4, 5 व 6 एवं आईटी की धारा 43/66, 66डी व 72 का अपराध करने का आरोप लगाया गया है। एसओजी ने गुरुवार को डॉ. राधाकृष्ण पोलो टेक्नीकल कॉलेज सुरतपुरा रोड कलवाड़ में दबिश देकर उपरोक्त गड़बड़ी पकड़ी थी। द्बितीय पारी में सुरेश चौधरी की जगह दिनेश विश्नोई परीक्षा देते हुए रंगे हाथ पकड़ा गया। दिनेश ने 5० हजार रुपए एडवांस भी लिया था। एसओजी इंस्पेक्टर मनोज गुप्ता ने उपरोक्त मुकदमा दर्ज कराया है तथा डिप्टी जीव प्रकाश जोशी जांच कर रहे हैं।

कोई जवाब दें