High-level committee to supply substandard material supply

जयपुर। नेता प्रतिपक्ष रामेश्वर डूडी के तीन करोड़ रुपए से जुड़े सट्टा वीडियो की गूंज मंगलवार को भी राजस्थान विधानसभा में रही। रामेश्वर डूडी ने सदन के अध्यक्ष कैलाश मेघवाल की अनुमति से संसदीय कार्य मंत्री राजेन्द्र राठौड़ और सचेतक मदन राठौड़ के खिलाफ विशेषाधिकार हनन का प्रस्ताव रखा तो सत्ता पक्ष और प्रतिपक्ष के सदस्यों में तीखी नोंक झोंक होने लगी।

मदन राठौड़ व राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि डूडी का जो वीडियो वायरल हुआ, उससे उनकी बदनामी को देखते हुए हमने नेता प्रतिपक्ष से अपना पक्ष रखने की बात कही थी। डूडी ने विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव लाकर गलती की है। अब पूरा राजस्थान इसे देखेगा।

मदन राठौड़ ने अध्यक्ष से कहा कि इस वीडियो की एफएसएल जांच होनी चाहिए। सब सामने आ जाएगा। दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा। डूडी के जवाब और विशेषाधिकार हनन प्रस्ताव के बाद सदन में दोनों पक्षों की ओर से तीखी नोंकझोंक होती रही। एक-दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोपों के दौर चलते रहे। आखिर में हंगामा बंद नहीं देख अध्यक्ष कैलाश मेघवाल ने सदन की कार्यवाही एक घंटे के लिए स्थगित कर दी।

कोई जवाब दें