जयपुर। गैंगस्टर आनन्दपाल एनकाउंटर मामले की सीबीआई जांच को लेकर 12 जुलाई को सांवराद में हुई सभा के दौरान फायरिंग में मरे लालचन्द शर्मा की मौत को लेकर सर्व ब्राह्मण महासभा और दूसरे ब्राह्मण संगठन सामने आए हैं। ब्राहमण संगठनों ने लालचंद शर्मा की मौत की जांच करवाकर दोषियों की गिरफ्तारी की मांग की है, साथ ही लालचंद के परिजनों का पता लगाकर उन्हें उचित मुआवजा देने और उनके आश्रितों को सरकारी नौकरी देने की मांग की है। संगठनों ने तीन दिन का अल्टीमेटम दिया है।

अगर तीन दिन में मांगे पूरी नहीं हुई तो ब्राह्मण समाज भाजपा सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरेगा। सर्व ब्राह्मण महासभा के प्रदेशाध्यक्ष सुरेश मिश्रा ने आरोप लगाया कि फायरिंग में घायल लालचन्द शर्मा ने मरने से पहले अपना नाम, पता और घरवालों के बारे में बताया था, लेकिन पुलिस ने दो दिन बीतने के बाद भी उनके घरवालों का पता नहीं लगाया और ना ही सूचना दी। मिश्रा ने चेताया है कि तीन दिन में सरकार परिजनों का पता लगाकर उन्हें सूचित करें, अन्यथा गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे। समाज सड़क पर उतरेगा।

यह भी कहा है कि अगर लालचन्द के परिवार का पता नहीं चलता है तो महासभा लालचन्द का अंतिम संस्कार करेगा। राजस्थान गौड़ महासभा के पदाधिकारी एडवोकेट पंकज पंचलांगिया ने भी भाजपा सरकार पर आरोप लगाया है कि वह लालचंद के परिजनों का पता नहीं लगा रही है।

कोई जवाब दें