DGP
जयपुर। राजस्थान नए डीजीपी की घोषणा हो गई है। राज्य सरकार ने ओ.पी.गल्होत्रा को डीजीपी बनाया है। आज ही डीजीपी अजीत सिंह का रिटायरमेंट है। अजीत सिंह की विदाई के साथ ओपी गल्होत्रा डीजीपी का पदभार ग्रहण करेंगे। इससे पहले सुबह आठ बजे आरपीए में अजीत सिंह को विदाई कार्यक्रम हुआ, जिसमें ओपी गल्होत्रा समेत तमाम आला अफसर मौजूद रहे। इस दौरान सीएमआर से संदेश मिलने पर आरपीए से ओपी गल्होत्रा मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे से मिलने पहुंचे। कुछ समय बाद अजीत सिंह भी सीएमआर गए।
वार्ता के बाद मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने ओपी गल्होत्रा को डीजीपी पद से नवाजा। इस पद के लिए डीजीपी रैंक के नवदीप सिंह, कपिल गर्ग, सुनील मल्होत्रा भी कतार में थे, लेकिन सरकार ने ओपी गल्होत्रा पर भरोसा जताते हुए डीजीपी बनाया। हालांकि अजीत सिंह के एक्सटेंशन की भी काफी चर्चा रही, लेकिन गल्होत्रा की घोषणा के बाद इस पर विराम लग गया। अजीत सिंह के आयोग या बोर्ड में शामिल होने की संभावना है। उधर, नवदीप सिंह सीनियर होने के बाद भी दूसरी बार डीजीपी बनने से रह गए। मनोज भट्ट के डीजीपी पद से रिटायरमेंट के बाद इनके डीजीपी बनने की काफी उम्मीदें थी, लेकिन गैंगस्टर आनन्दपाल एनकाउंटर के बाद उपजे हालात और राजपूत समाज की नाराजगी दूर करने के लिए अजीत सिंह को डीजीपी बनाया गया। इस बार भी उनके नाम की काफी चर्चा रही, लेकिन ओपी गल्होत्रा डीजीपी बन गए।

कोई जवाब दें