bhaajapa ne karmachaariyon par julm kiya, ham karegen samasyaon ka samaadhaan: khaachariyaavaas

जयपुर. राजस्थान कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं जयपुर जिलाध्यक्ष प्रतापसिंह खाचरियावास ने कहा कि आठ माह से नगर निगम में नक्षा कमेटी, सफाई कमेटी, लाईसेंस कमेटी सहित सभी जरूरी कमेटियांें का गठन नहीं होने से यह स्पष्ट हो गया है कि जयपुर में खडडे भरने से लेकर नामांकन का काम और सफाई व्यवस्था चैपट होने के लिये नगर निगम और राज्य सरकार जिम्मेदार है। यह राज्य की भाजपा सरकार की बड़ी असफलता है कि उनका बहुमत का जयपुर नगर निगम का बोर्ड कमेटियां तक नहीं बना पा रहा है। मेयर राज्य सरकार पर जिम्मेदारी डाल रहे हैं और राज्य सरकार मेयर पर जिम्मेदारी डाल रही है लेकिन जिम्मेदारी डालने से सरकार और निगम अपनी विफलताओं और असफलताओं को नहीं छुपा सकते। पिछले आठ माह से सफाई का ठेका बिना सफाई कमेटी के गठन के दे दिया गया, जिसमें बीवीजी कंपनी ने भारी भ्रष्टाचार किया।

पूरे जयपुर में नगर निगम के भ्रष्टाचार का आलम यह है कि सफाई कंपनी पैसे पूरे लेने के बावजूद जयपुर में सफाई करने में पूरी तरह से असफल रही है। सरकार जयपुर के विकास  को लेकर गंभीर नहीं है, यह जयपुर की जनता द्वारा दिये गये बहुमत का अपमान है, नगर निगम के हालात बहुत खराब है, पूरे नगर निगम में भारी भ्रष्टाचार व्याप्त है, नालों की सफाई नहीं होने के कारण एक नौजवान आयुष गर्ग कार सहित करतारपुरा नाले में बह गया, उसकी लाष को ढूंढने में नगर निगम को 7 दिन लगे, नगर निगम के पास आपदा से लड़ने के संसाधन तक नहीं है और स्वायत षासन मंत्री श्रीचंद कृपलानी और जयपुर के सभी भाजपा विधायक बडी-बडी डींगे मारते हैं लेकिन नगर निगम द्वारा जयपुर के विकास के साथ किये जा रहे खिलवाड़ को लेकर कोई कदम नहीं उठा रहे हैं।

खाचरियावास ने कहा कि साधारण सभा की मीटिंग हुये छः माह से अधिक समय व्यतीत हो चुका है, थड़ी-दुकान के लाईसेंस तक नहीं मिल रहे हैं, नक्षे पास कराने के लिये लोग धक्के खाते घूम रहे हैं, नालियों को ढकने के लिये फेरो कवर तक नहीं हैं, पूरे जयपुर षहर में सड़कों पर खडडो की भरमार है जिसके कारण आयेदिन दुर्घटनायें हो रही हैं और सरकार व नगर निगम इन अव्यवस्थाओं को ठीक करने की बजाय एक दूसरे पर जिम्मेदारी डालकर अपना पल्ला झाड़ रहे हैं। इससे जयपुर के नागरिक बहुत परेषान है और लोगों में भारी आक्रोष व्याप्त है।

कोई जवाब दें