Daty Maharaj misdemeanor case transferred to CBI

जयपुर। भक्तों को संकट से बचने के लिए कई तरह के उपाय बताने वाले शनिधाम मंदिर दिल्ली और पाली के महंत दाती महाराज पर ग्रहों की साढ़े साती की छाया शुरु हो गई है। दाती महाराज की एक शिष्या ने उन पर रेप करने का आरोप लगाया है। जब से रेप केस लगा है, तब से वे भूमिगत हो गए हैं। चैनलों पर दिखाई देने वाले दाती महाराज दो दिन से गायब से दिख रहे हैं। मोबाइल फोन भी बंद है।

एक शिष्या ने उनके खिलाफ दिल्ली में रेप केस की प्राथमिकी दर्ज करवाई है। रेप केस दर्ज होते ही दाती महाराज भी भूमिगत हो गए हैं। न तो वे दिल्ली के प्रसिद्ध शनिधाम मंदिर और न ही पाली के आलावास आश्रम में दिखाई दे रहे हैं। गिरफ्तारी के भय के चलते उनके भूमिगत होने का अंदेशा है। मंदिर और आश्रम में सन्नाटा पसर गया है। न तो भक्त दिख रहे हैं और न ही सेवादार। पाली आश्रम के अधिकांश कमरों में ताले लगे हुए हैं। हालांकि अभी दिल्ली पुलिस ने पूछताछ के लिए उन्हें कोई नोटिस नहीं दिया है और ना ही बुलाया है। दुष्कर्म केस में फंसे आसाराम बापू व उनके बेटे नारायण सांई, बाबा राम-रहीम की गिरफ्तारी को देखते हुए दाती महाराज को डर है कि पुलिस उन्हें गिरफ्तार कर सकती है। इसलिए वे रोज की तरह न तो मंदिर व न ही आश्रम में दिखे और न ही टीवी चैनलों पर भक्ति ज्ञान करते नजर आए। मीडिया की सुर्खियां बनने के बाद दिल्ली पुलिस भी एक्टिव हो गई है। दुष्कर्म केस में बयान लेने के लिए पुलिस दाती महाराज को नोटिस जारी करेगी।

गौरतलब है कि दाती महाराज पर रेप केस उनकी शिष्या ने दर्ज करवाया है। शिष्या का आरोप है कि दो साल पहले दाती महाराज ने दिल्ली स्थित शनिधाम मंदिर परिसर में ही उसके साथ दुष्कर्म किया। उसके साथ दो बार दुष्कर्म किया गया। दाती महाराज और उनके खास सेवादारों ने इस बारे में किसी को बताने पर जान से मारने की धमकी दी। शिष्या की शिकायत पर दिल्ली पुलिस ने सोमवार को मामला दर्ज किया है। पुलिस ने दाती महाराज के खिलाफ सीआरपीसी की धारा 376, 377, 354 और 34 के तहत मामला दर्ज किया गया है। उधर, आलावास पाली आश्रम के सेवादारों ने नाम नहीं छापने पर बताया कि शिष्या आश्रम में आती थी और कुछ साल तक वह अपनी बहनों के साथ आश्रम में रही भी थी, लेकिन दो-तीन साल पहले वह अपनी मर्जी से चली गई थी। दाती महाराज को बदनाम करने के लिए झूठा केस दायर किया है।

कोई जवाब दें