जयपुर। राजस्थान के टोंक जिले स्थित कोतवाली पुलिस थाने में खाकी की गुड़ागर्दी सामने आई। यहां एक एएसआई सहित 8 पुलिस वालों ने भाजपा विधायक अजीत सिंह मेहता के पुत्र विशाल मेहता और नगर परिषद सभापति लक्ष्मी देवी के भतीजे और भाजपा के पदाधिकारी सम्मेद जैन के साथ जमकर मारपीट कर डाली। साथ ही दोनों के मोबाइल भी छीन लिए।

यहां जैसे तैसे दोनों बड़ी मुश्किल से जान बचाकर बाहर निकले। बाद में विधायक पुत्र ने यह बात अपने पिता को बताई। घटना के समय विधायक अजीत सिंह मेहता जयपुर किसी मिटिंग में गए हुए थे। इधर सूचना मिलने के साथ ही समूचा जैन समाज व विधायक समर्थक कोतवाली थाने पर जा पहुंचे। यहां उन्होंने विरोध जताते हुए मामले में लिप्त दोषी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड करने की मांग कर थाने के बाहर जाम लगा दिया। साथ ही धरने पर बैठ गए। वहीं आक्रोशित विधायक समर्थकों ने शहर के बाजार बंद कर दिए।

बताया जा रहा है कि विशाल मेहता व सम्मैद जैन शहर स्थित एक मंदिर की दुकान के विवादित प्रकरण के मामले में रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचे थे। आरोप है कि इस दौरान एएसआई राजपाल, कांस्टेबल बद्री सहित 8 पुलिस वालों ने उन्हें बेरहमी से पीटा। इधर सूचना मिलने के साथ ही पुलिस अधीक्षक प्रीति जैन, एएसपी अवनीश शर्मा कोतवाली पहुंच गए। साथ ही पीडि़तों से मामले की जानकारी ली। बाद में विधायक अजीत सिंह मेहता भी जयपुर से टोंक पहुंच गए और एसपी के साथ बात कर आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही।

-जनप्रहरी की ताजातरीन खबरों के लिए लाइक करें।

कोई जवाब दें