जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि प्रदेश में औद्योगिक विकास के लिए नई दिल्ली से मुम्बई तक डेडिकेटेड फ्रेट कोरिडोर रेलवे लाइन का कार्य प्रगति पर है जिसके पूरा होने पर पाली सहित आस-पास के जिलों को सीधा लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री शनिवार को पाली के अणुव्रत नगर में कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। गहलोत ने कहा कि फ्रेट कोरिडोर में दिल्ली से मुम्बई तक 6 स्टेशनों पर माल का लदान होगा। जिसमें पाली जिले के मारवाड जंक्शन को भी चुना गया है। इसके पूरा होने से जोधपुर, पाली एवं जालोर जिलों में तीव्र गति से औद्योगिक विकास होगा। इस क्षेत्र में व्यवसाय के लिए रोहट को केन्द्र बिन्दु बनाया जायेगा। व्यापारिक हब के विकसित होने से इस क्षेत्र के लोगों को रोजगार भी मिल सकेगा।

गहलोत ने कहा कि पाली, बालोतरा एवं जोधपुर की औद्योगिक प्रदूषण की समस्या का शीघ्र समाधान करने के प्रयास भी होंगे। इसके लिए नई तकनीक खोजने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदूषण के कारण उद्योगों के बंद होने से मजदूरों को भी परेशानी होती है। सरकार प्राथमिकता के साथ इस समस्या का समाधान करने का प्रयास करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव के लोगों की समस्या का समाधान गांव स्तर पर ही कराने के लिए भी सरकार प्राथमिकता से कार्य करेगी। प्रदेश में सुशासन के लिए अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को कल्याणकारी योजनाओं का लाभ दिलाया जायेगा। पानी की समस्या से निजात दिलाने के लिए भी इन्दिरा गांधी नहर योजना का पानी पाली तक लाया गया है, वहीं जवाई बांध का पानी सोजत एवं रायपुर तक पहुंचा है।

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने मात्र अस्सी दिनों में ही अनेक कल्याणकारी योजनाएं बनायी हैं। अकेले पाली जिले में किसानों के लगभग पांच सौ करोड़ रूपये के कर्जे माफ किये गये हैं। साथ ही किसानों के लिए बिजली के बिल में आगामी पांच वर्ष तक दरें नहीं बढ़ाने का भी निर्णय लिया गया है। आगामी जून माह तक एक लाख किसानों को कृषि कनेक्शन दे दिये जायेंगे। किसानों को वृद्धावस्था पेंशन, गरीब तबके को एक रूपये किलो की दर पर गेहूं उपलब्ध कराने जैसे फैसले सरकार ने किए हैं। बेरोजगारों का भत्ता पांच गुना तक बढाने के साथ ही डेयरी में दूध देने वाले किसानों को दो रूपये प्रति लीटर बोनस भी दिया जायेगा।

कोई जवाब दें