जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि जोधपुर जिले को पेयजल आपूर्ति करने वाली राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल के तृतीय चरण का कार्य शीघ्र पुनः शुरू करवाया जायेगा। मुख्यमंत्री ने शनिवार को जोधपुर जिले की यात्रा के तीसरे दिन लोहावट तथा सालावास में आयोजित कार्यक्रमों में कहा कि मारवाड़ के लिए राजीव गांधी लिफ्ट कैनाल का तृतीय चरण का कार्य बहुत बड़ा है। गत सरकार में इसकी उपेक्षा हुई थी। उन्होंने कहा कि भेड़-हलाया पेयजल स्कीम को भी आगे बढ़ाया जायेगा, ताकि इस क्षेत्र से जुड़े गांवों को मीठा पानी मिल सके। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोहावट में उपखण्ड कार्यालय खोलने की जनप्रतिनिधियों की मांग का परीक्षण करवाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार बने 80 दिन ही हुए हैं। इस दौरान अनेक बेमिसाल फैसले किए गए हैं। प्रदेश में युवाओं, किसानों, महिलाओं सहित सभी वर्गाें को सम्बल देने के लिए कई योजनाएं बनाई गई हैं। शपथ के दूसरे दिन ही कृषक ऋण माफी योजना जैसा निर्णय लिया। उन्होंने कहा कि सरकार ने जून माह तक 1 लाख कृषि कनेक्शन देने का निर्णय लिया है। हमारा प्रयास रहेगा कि किसानों को समय पर खाद-बीज मिले। गरीबों को 1 रूपये किलो गेहूं देने जैसा निर्णय भी इसी अल्प-समय में लिया है। किसानों को वृद्धावस्था पेंशन तथा बेरोजगारों का भत्ता पांच गुना तक बढ़ाने का निर्णय लिया। साथ ही घरेलू उपभोक्ताओं के पानी के बिल से वाटर चार्ज समाप्त करने जैसा फैसला भी हमारी सरकार ने लिया है। जिसका फायदा करीब साढे तीन करोड़ लोगों को होगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि बीते 40 वर्षों से आप लोगों से मेरा आत्मीय जुड़ाव है। मैं 1998 में अकाल के समय गांव-गांव घूमा। बेहतर अकाल-प्रबंधन किया। चारे की व्यवस्था की। घर-घर गेहूं पहुँचाये। किसी को भूख से नहीं मरने दिया। लोहावट के कार्यक्रम को अल्पसंख्यक मामलात व वफ्फ मंत्री साले मोहम्मद, विधायक दिव्या मदेरणा, किशनाराम विश्नोई तथा पूर्व विधायक ओम जोशी ने भी संबोधित किया। वहीं सालावास के कार्यक्रम को उपमुख्य सचेतक महेन्द्र चौधरी, विधायक महेन्द्र विश्नोई, हीराराम मेघवाल ने भी संबोधित किया। विधायक मनीषा पंवार और जोधपुर विकास प्राधिकरण के पूर्व चैयरमेन राजेन्द्र सोलंकी भी मौजूद थे।

कोई जवाब दें